मैनपुरी में नौशाद करने लगा हनुमान जी की पूजा, गुस्साए मुसलमानों ने किया हमला, उसकी पत्नी को भी मारा



कई बार अल तकिया के तहत मजहबी उन्मादी कहते है की वो सभी धर्मो का सम्मान करते है, वो सेक्युलर है और भाईचारा और अमन शांति के तहत रहते है, पर असल में मजहबी उन्मादी ऐसा कहते हुए सिर्फ अल तकिया यानि छल कर रहे होते है 

ऐसा ही देखने को मिला उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में, भारत एक आजाद देश है और यहाँ पर सबको अपनी इक्षा के अनुसार धार्मिक स्वतंत्रता है, नौशाद नाम का एक शख्स हनुमान भक्त बन गया और हनुमान जी की पूजा करने लगा 

स्थानीय मुसलमानों को जब इस बात का पता चला तो उन्हें इस बात से आपत्ति होने लगी की नौशाद हनुमान जी की पूजा क्यों कर रहा है, और फिर क्या था मुसलमानों ने भीड़ बनाया और नौशाद और उसके परिवार पर मिलकर हमला कर दिया 

मुसलमानों की भीड़ ने नौशाद के अलावा उसकी पत्नी को भी मारा 

नौशाद ने पुलिस से स्थानीय मुसलमानों की शिकायत की है और बताया है की वो अपनी इक्षा से बिना किसी दबाव हनुमान जी के मंदिर जाकर पूजा अर्चना करता है और इसी चलते स्थानीय मुसलमानों ने उसपर साथ ही साथ उसके परिवार पर घेरकर हमला कर दिया