कांग्रेस के मुस्लिम नेता ने गद्दारों की तरह लगाए आज़ादी-आज़ादी के नारे, आख़िरकार उतर गया सेकुलरिज्म का नकाब



JNU तथा AMU के गद्दार हो या शाहीन बाग़ के इस्लामिक उन्मादी, ये सभी देश के टुकड़े करने के नारे लगाते है, भारत एक आज़ाद देश है पर इस देश में ये आज़ादी आज़ादी के नारे लगाकर आतंक का माहौल बनाते है

और अब आज़ादी आज़ादी का नारा एक ऐसे शख्स ने लगाया जो की भारत का विदेश मंत्री भी रह चूका है, हम बात कर रहे है कांग्रेस के मुस्लिम चेहरे सलमान खुर्शीद की जो की सेकुलरिज्म की बातें किया करते थे पर आख़िरकार उन्होंने दिखा दिया की चाहे हामिद अंसारी हो चाहे सलमान खुर्शीद, सेकुलरिज्म के नकाब के पीछे मजहबी उन्मादी ही है

सलमान खुर्शीद ने सड़क पर आज़ादी आज़ादी का नारा लगाया है, ये शख्स भारत का विदेश मंत्री रह चूका है और इसके साथ साथ कई अहम् मंत्रालय भी संभाल चूका है

देखिये किस प्रकार सलमान खुर्शीद भी देश के गद्दारों की शैली में आज़ादी आज़ादी के नारे लगा रहे है


जिस तरह JNU, AMU और कश्मीर के आतंकवादी और गद्दार आज़ादी आज़ादी के नारे लगाते है सलमान खुर्शीद ने भी आज़ादी आज़ादी के नारे लगाए



ये वाकई काफी ज्यादा खतरनाक है, सेकुलरिज्म के नाम पर इस्लामिक कट्टरपंथी बड़े बड़े पदों पर बैठ जाते है चाहे वो हामिद अंसारी हो जो उपराष्ट्रपति तक बना या फिर सलमान खुर्शीद जो की विदेश मंत्री भी रहा