टिकेट के नाम पर मायावती ने लिए है 65 लाख, वापस नहीं करेगी तो कर लूँगा आत्महत्या, मेरे पैसे वापस कर : बसपा नेता


बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती (Mayawati) पर टिकट के बदले पैसे लेने के आरोप लगते आए हैं. मायावती के करीबी रहे कई नेताओं ने खुद मीडिया में आकर इसका खुलासा किया कि बसपा में चुनाव लड़ने के लिए टिकट बेंचे और खरीदे जाते हैं. 

टिकट की खरीद-फरोख्त को लेकर बदनाम हो चुकीं मायावती पर अब एक और नेता ने गंभीर आरोप लगाए हैं. हाथरस (Hathras) विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी रह चुके वरिष्ठ बसपा नेता मुहर सिंह (Muhar Singh) ने मायावती पर टिकट के नाम पर 65 लाख रूपए लेने के आरोप लगाए हैं. इतना ही नहीं उन्होने रूपए न लौटाने पर आत्महत्या करने की धमकी भी दी है.

मुहर सिंह का कहना है कि वह बीते 12 साल से बहुजन समाज पार्टी में काम कर रहे हैं. 2009 में बसपा के सिंबल पर राजस्थान के भरतपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ा था मगर हार गए थे. 2017 में सासनी में चेयरमैन पद के लिए लड़े थे. 

दो साल पहले हाथरस विधानसभा क्षेत्र का प्रभारी बनाया गया तो गांव-गांव जाकर पार्टी की नीतियों को बता रहे थे. जनवरी में अचानक बिना कोई सूचना दिए किसी और प्रभारी बना दिया गया. 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए उनकी हाथरस सीट से तैयारी चल रही थी.

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रभारी बनाते समय बसपा की मुखिया ने उनसे 25 लाख रुपये लिए थे. इसके अलावा बहन जी के जन्मदिन पर दो साल से हर बार 10 लाख देते रहे हैं. बहन जी से हर मुलाकात पर 50 हजार खर्च होते थे. अब तक कुल 65 लाख रुपये खर्च हो चुके हैं. पूरा पैसा पार्टी के पदाधिकारियों के माध्यम से दिया गया था.