मनोज तिवारी की छुट्टी, दिल्ली में अनुभवी को कमान, 1 महीने में पूरी स्टेट यूनिट बदली जाएगी


दिल्ली चुनाव से काफी पहले समय से बहुत सारे भाजपा समर्थक लगातार पार्टी आलाकमान से मांग करते रहे की मनोज तिवारी बीजेपी को नुक्सान पहुंचाएंगे और इनको तुरंत दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष के पद से हटाकर किसी अनुभवी नेता को ये जिम्मेदारी सौंपी जाये 

चुनाव के नतीजे आ गए और फिर से केजरीवाल की पार्टी को दिल्ली में जीत मिली, वोट शेयर भी 50% से ज्यादा रहा, और बीजेपी की विधानसभा चुनाव में फिर एक बार बुरी हार हुई 

अब इस हार पर भारतीय जनता पार्टी मंथन कर रही है, कई मीटिंग भी की गयी है और इन मीटिंग्स में जेपी नड्डा, मुरलीधर राव, राम माधव, भूपेंद्र यादव जैसे नेता शामिल रहे 

बीजेपी अब संगठन को लेकर दिल्ली में बड़े बदलाव करने की तैयारी कर रही है, जानकारी के अनुसार अगले 30 दिनों में बीजेपी पूरी की पूरी दिल्ली स्टेट यूनिट को बदलने जा रही है और मनोज तिवारी की छुट्टी की जा रही है 

मनोज तिवारी की जगह बीजेपी दिल्ली में किसी अनुभवी नेता को नेतृत्व सौंपने वाली है जो की सेलेब्रिटी बैकग्राउंड का न हो बल्की जमीनी स्तर का नेता हो, बीजेपी किसी पुराने नेता को ये जिम्मेदारी सौंप सकती है 

बीजेपी ने एक आन्तरिक सर्वे में ये पाया है की - दिल्ली में सिख, मुस्लिम, खत्री समुदाय का वोट उसे बिलकुल नहीं मिला है, और बाकि समुदायों के वोटों में बंटवारा हुआ है, बीजेपी को केवल पूर्वांचली समुदाय ने ज्यादा वोट दिया है उसके अलावा आम आदमी पार्टी को ही बाकि समुदायों का वोट मिला है 

इतनी बुरी हार की वजहें खोजी जा रही है और अगले 30 दिनों में पूरी की पूरी स्टेट यूनिट को बदलने का काम भी शुरू हो चूका है