औकात भूल गया था पैसे लेकर प्रोपगंडा चलाने वाला प्रशांत किशोर, JDU ने कहा - चल फुट



प्रशांत किशोर जिसका कोई जनाधार नहीं है, वो सिर्फ एक सोशल मीडिया का टट्टू है, चुनाव प्रचार का काम है सोशल मीडिया पर, पैसे लेकर अलग अलग पार्टियों के लिए सोशल मीडिया पर प्रोपगंडा चलाने का बिज़नस है, पर ये शख्स थोडा बहुत नाम कमाकर अपनी औकात ही भूल गया

नितीश कुमार जो की एक जमीन से जुड़े हुए नेता है, वो सोशल मीडिया से बने हुए नेता नहीं है, उन्होंने आन्दोलन से राजनीती में जन्म लिया था और संघर्ष करते हुए आज वो इतने बड़े नेता बने है, प्रशांत किशोर उनपर सवाल उठाने लगा और अपने आप को नितीश कुमार के बराबर समझने लगा

प्रशांत किशोर की कोई विचारधारा नहीं है, पहले ये नरेंद्र मोदी के लिए सोशल मीडिया पर काम करता था, बीजेपी ने आगे के कॉन्ट्रैक्ट देने से मना कर दिया तो ये बीजेपी के खिलाफ बोलने लगा

फिर इसने ममता बनर्जी के लिए काम किया, इसने केजरीवाल के लिए भी काम किया, इसाई मिशनरी जगन मोहन रेड्डी के लिए भी काम किया साथ ही साथ घोर हिन्दू विरोधी तमिलनाडु की DMK के लिए भी काम किया

प्रशांत किशोर न कोई नेता है न ही इसका को आधार और जनाधार है ये सिर्फ पैसे लेकर सोशल मीडिया पर प्रोपगंडा करने वाला एक भाड़े का टट्टू है, इसकी कोई विचारधारा भी नहीं सिर्फ पैसा और कुछ नहीं

नितीश कुमार को ये ललकारने लगा तो JDU ने भी इसे इसकी औकात दिखाने में जरा भी देरी नहीं की, पहले नितीश कुमार ने कह दिया की प्रशांत किशोर JDU से बाहर जा सकता है, पार्टी को उसकी कोई जरुरत नहीं और अब JDU ने तो प्रशांत किशोर को और भी तीखा आइना तिखाया और इसे क्रोना वायरस बता दिया

JDU नेता ने कहा की प्रशांत किशोर JDU छोड़ कर जाए हम तो उल्टा खुश है की ये क्रोना वायरस हमसे दूर जा रहा है

प्रशांत किशोर जो अपनी औकात भूल गया था आज JDU ने उसे उसकी औकात बता दी और साफ़ कर दिया की JDU को उसके जाने से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला बल्कि JDU तो उल्टा खुश है, प्रशांत किशोर जो सिर्फ सोशल मीडिया पर पैसे लेकर काम करने वाला एक टट्टू है वो टट्टू ही रहेगा कोई नेता नहीं बन जायेगा