‘CAA विरोध की आढ़ में यदि उपद्रव किया तो वो हाल करेंगे कि दस पुश्तें याद रखेंगी’


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सीएए (CAA) के विरोध में तोड़फोड़ करने वालों को सख्त तेवर दिखाए. सीएए और एनआरसी की आढ़ में आगर प्रदेश में हिंसा और आगजनी की तो ऐसा हाल करेंगे कि आने वाली 10 पुश्तें याद रखेंगी. 

उन्होंने विपक्षी दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अब तो घर की महिलाओं और बच्चों को आगे कर दिया. धरना देने वाली महिलाओं बच्चों को नहीं पता वे किसके विरोध में प्रदर्शन करने आए. ये बातें सीएम योगी ने बुधवार को कानपुर के कमर्शियल ग्राउंड में सीएए के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित करने के दौरान कहीं.

सीएम योगी ने कहा कि यह लोग स्वयं आंदोलन करने की स्थिति में नहीं हैं क्योंकि इन्हें मालूम है कि अगर यह तोड़फोड़ करेंगे तो इनकी प्रापर्टी जब्त हो जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘अब इन्होंने क्या किया है? अपने घर की महिलाओं को चौराहे चौराहे पर बैठाना प्रारंभ कर दिया है. बच्चों को (प्रदर्शन में)बैठाना प्रारंभ कर दिया है …इतना बड़ा अपराध कि पुरूष घर में सो रहा है रजाई ओढ़कर और महिलाओं को आगे करके चौराहे चौराहे पर बैठाया जा रहा है.

सीएम ने आरोप लगाया कि कि कांग्रेस, सपा और वामपंथी दल देश की कीमत पर राजनीति कर रहे हैं और अब विरोध के नाम पर महिलाओं को आगे करने का हथकंडा अपनाया जा रहा है जिन्हें यह भी नहीं मालूम कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) क्या है? 

उन्होंने दावा किया, ‘‘ इनके (विपक्षी दलों के) लिये देश महत्तवपूर्ण नही है. इनके लिये हिंदू, सिख, बौध्द, जैनी और पारसी महत्वपूर्ण नही है. अब तो कांग्रेस के लिये इसाई भी महत्तवपूर्ण नही रहे.

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की तारीफ करते हुए कहा कि यह नागरिकता लेने नहीं बल्कि देने वाला कानून है. कांग्रेस, सपा और वामपंथी दलो को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सभी पाकिस्तान की भाषा बोल हैं. उचित समय पर जनता उन्हें जवाब देगी. योगी ने बाबा साहब आंबेडकर को भारत रत्न और योगेंद्र नाथ मंडल को गद्दार बताया.


Loading...