गद्दारों को कुचलना या गोली मारना मेरे लिए एक ही बात है, जो जिस भाषा में समझेगा उसे उसी भाषा में समझाया जायेगा : योगी आदित्यनाथ


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने हाल ही में दिए एक इंजरव्यू में दंगाइयों पर बेहद तीखे हमले बोले हैं. सीएए (CAA) विरोध की आढ़ में हुई हिंसा पर योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में किसी भी प्रकार की अराजकता करने की छूट नहीं दी जा सकती है, जो ऐसा करता है उससे हम सख्ती से निबटेंगे, वो जिस जो जिस भाषा में समझेगा उसे उसी भाषा मे समझाया जाएगा. वहीं एक सवाल के जवाब में सीएम ने कहा कि गद्दारो को कुचलना या गोली मारना मेरे लिए एक ही बात है.

विरोधी दलों पर हमला बोलते हुए योगी ने कहा कि सीएए के नाम पर कांग्रेस, सपा, बसपा और विपक्षी दलों ने जो भ्रम की स्थिति पैदा की है. इनके साथ कौन लोग हैं इसका उजागर उत्तर प्रदेश की पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने किया है. और इस पूरे घटनाक्रम में PFI का नाम सामने आया है. साल 19-20 की आगजनी की घटना में 120 करोड़ का ट्रांजेकेशन हुआ है इसके बाद हम लोगों ने पीएफआई पर कार्रवाई भी की थी.

योगी ने कहा कि सिमी से जुड़े हुए लोग ही PFI है और इनका समर्थन सपा, बसपा, कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियां कर रही है. यह बदला हुआ भारत है, अगर किसी को गलत फ़हमी हैं कि हम देशतोड़ देगें, इससे पहले की उनके मुंह से यह शब्द निकलेगा हम उनके मंसूबों ध्वस्त कर देंगे. योगी ने कहा सीमी से जुड़े लोग ही पीएफआई में है यह भी यूपी सरकार की रिपोर्ट में सामने आया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे पुलिसकर्मियों ने पूरी ईमानदारी के साथ अपना फर्ज निभाया है. अगर वह व्यक्ति (शरजील) अपने आपको इतना ही बाहदूर समझता था तो कायरों  की तरह यूपी छोड़ कर भागता नहीं. यह पुरी घटना AMU कैंपस के अंदर के हुआ है. एएमयू प्रशासन को ऐसी घटनाओं के लिए पहले ही इतल्ला किया गया था, और किसी भी विश्वविद्यालय की स्वायत्तता को हम सम्मान करते हैं, जब तक की वहीं व्यवस्था के लिए चैलेंज न खड़ा हो. 

सीएम ने कहा कि सबको पता है 15 दिसंबर को जामिया मिलिया और एएमयू में क्या करने का प्रयास हुआ था. और इस प्रकार की देश तोड़ने की हरकतें आजादी के बाद से चल रही है लेकिन यह उनकी अंतिम हरकते हैं. योगी ने कहा जब कोई दिप तेजी से फड़फड़ाता है तो यह मान कर चलिए उसके बुझने का समय आ गया है.