ये जो चिल्ला रहे है की हम कागज नहीं दिखायेंगे, ये चड्डी भी खोलके दिखायेंगे : सुरेश चाव्हानके



नागरिकता संसोधन कानून को लेकर देश में इस्लामिक चरमपंथियों और सेक्युलर दलों ने काफी दिनों से उपद्रव मचाया हुआ है और इसे लेकर काफी झूठी बातें फैलाई गयी है

इस कानून में किसी भारतीय नागरिक से कागज दिखाने की मांग नहीं की जाएगी और न ही इस कानून में कहीं किसी भारतीय नागरिक के नागरिकता को ख़त्म करने का ही प्रावधान है, पर इस्लामिक चरमपंथियों और सेक्युलर दलों ने इसे लेकर काफी भ्रम फैलाये है

इस भ्रम के बीच बार बार ये कहा जाता है की - हम कागज नहीं दिखायेंगे, इसे लेकर पत्रकार सुरेश चाव्हानके ने भी तीखी बात कही

सुरेश चाव्हानके ने कहा की ये जितने लोग कागज नहीं दिखाने की बात कह रहे है, चिल्ला रहे है की हम कागज नहीं दिखायेंगे, समय आने दो ये सब लोग अपनी चड्डी खोलकर भी दिखायेंगे


आपकी जानकारी के लिए बता दें की ये तमाम लोग जो चिल्ला रहे है की हम कागज नहीं दिखायेंगे असल में ये सब पहले भी कई बार कागज़ दिखा चुके है, सब्सिडी लेने के लिए, सरकारी सुविधा लेने के लिए, खाते खुलवाने के लिए, हर काम के लिए ये पहले से कागज दिखा चुके है 

पर नागरिकता संसोधन कानून के नाम पर उपद्रव मचाने के मकसद से कहते है की हम कागज नहीं दिखायेंगे, चाव्हानके का कहना है की सरकार अभी संयम बरत रही है पर अगर पानी सर के ऊपर गया तो ये लोग कागज ही क्या चड्डी खोलकर भी दिखायेंगे 


Loading...