मरकर भी हिन्दुओ, सिखों आदि को नागरिकता दिए जाने के बिल का करो विरोध : बरखा दत्त



भारत सरकार ने अफगानिस्तान, पकिस्तान, बांग्लादेश जैसे इस्लामिक देशों के अल्पसंख्यको यानि हिन्दुओ, सिखों, जैनियों, बुद्धों के साथ साथ ईसाईयों के लिए आज संसद में एक बिल पेश किया

इन इस्लामिक देशों में हिन्दुओ सिखों का जीना नर्क जैसा है, धर्म के आधार पर वहां इनको प्रताड़ित किया जाता है, मोदी सरकार ऐसे हिन्दुओ, सिखों, बुद्धों, जैनियों को इन इस्लामिक देशों में मरने नहीं देना चाहती इसी कारण नागरिकता संसोधन बिल लाया गया है

अब कुख्यात पत्रकार बरखा दत्त ने इस मामले पर एक बड़ी बात कही है, वो किसी भी कीमत पर इस बिल को रुकवाना चाहता है भले इसके लिए जान भी दे देनी पड़े

बरखा दत्त अब कह रही है की - इस बिल का पुरजोर विरोध किया जाना चाहिए और इस बिल के विरोध में भूख हड़ताल करके मरना भी पड़े तो मर जाना चाहिए, किसी को गाँधी बनना पड़ेगा जो इस बिल के खिलाफ मरने तक भूख हड़ताल पर बैठ सके

बरखा दत्त ने हिन्दुओ, सिखों आदि को नागरिकता दिए जाने के विरोध में मरने तक भूख हड़ताल करने की वकालत की, किसी भी कीमत पर बस कोई इस बिल को रोके भले भूख से मर जाना पड़े

बता दें की इस बिल का देश की तमाम सेक्युलर और मुस्लिम पार्टियाँ विरोध कर रही है और अब बरखा दत्त तो इस जान देकर भी इस बिल को रोकने की बातें कह रही है