हमारे मासूम बच्चो को मार डाला रे, बलात्कारियों के एनकाउंटर से आहात हो गयी सेक्युलर गैंग



एक तरफ हैदराबाद गैंगरेप और हत्या की पीडिता के परिवार के लोग खुश है, हैदराबाद के स्थानीय लोग खुश है, देश के आम लोग खुश है, वही दूसरी ओर देश का सेक्युलर गैंग अब काफी आहात और नाखुश है 

इनकी समस्या ये है की आखिर हैदराबाद पुलिस ने इनके मासूम बच्चों का एनकाउंटर किया ही कैसे, शेखर गुप्ता नाम का कथित पत्रकार और एडिटर्स गिल्ड का चेयरमैन पुलिस को नक्सली, आतंकवादी, तालिबानी और माफिया बता रहा है 

वहीँ रोहिंग्यों का केस लड़ने वाला कुख्यात वकील प्रशांत भूषण भी काफी ज्यादा आहात है, इसके साथ साथ कुख्यात पत्रकार राणा आयूब और सागरिका घोसे भी बलात्कारियों के एनकाउंटर के खिलाफ बयानबाजी कर रहे है 

सेक्युलर गैंग पूरी तरह आहात नजर आ रहा है क्यूंकि हैदराबाद में बलात्कारियों का एनकाउंटर हुआ है, सेक्युलर गैंग का कहना है की एनकाउंटर फर्जी है 

देखिये किस प्रकार प्रशांत भूषण, सागरिका घोसे और राणा आयूब अपनी रुदाली मचा रहे है 



प्रशांत भूषण, राणा आयूब, सागरिका घोसे जैसे लोग हैदराबाद पुलिस को हत्यारा घोषित कर रहे है और एनकाउंटर की आलोचना कर रहे है 

पूरा सेक्युलर गैंग एक्टिव हो चूका है जो की अब बलात्कारियों के मानवाधिकार गिना रहा है वहीँ पुलिस की कार्यवाही को गलत ठहरा रहा है