नागरिकता बिल के पास होते ही चैनल पर बैठ कर मुहं से हगने लगे रविश कुमार, इतनी अनाब शनाब बकलोली



नागरिकता संसोधन बिल जिसे मोदी सरकार ने पहले लोकसभा और राज्य सभा में पास करवाया वो बिल अफगानिस्तान पाकिस्तान बांग्लादेश के अल्पसंख्यको यानि हिन्दुओ, सिखों, जैनियों, बुद्धों इत्यादि को नागरिकता देने का बिल है

ये बिल नागरिकता देने वाला है किसी की नागरिकता छीनने का बिल नहीं है, इस बिल में किसी की नागरिकता ख़त्म करने का कोई प्रावधान ही नहीं है, इस बिल का भारतीय मुसलमानों से कुछ लेना देना नहीं है

पर इस बिल को विपक्ष ने पहले मुस्लिम विरोधी बता दिया उसके बाद रविश कुमार तो टीवी पर बैठ कर मुहं से ही हगने लगे

पत्रकारिता के नाम पर इतनी बकलोली, नागरिकता बिल लोगो को नागरिकता देता है, किसी की नागरिकता लेता नहीं है, पर रविश कुमार ने मुहं से हगते हुए इस बिल के विरोध में भय का माहौल बनाना शुरू कर दिया

रविश कुमार ने पत्रकारिता के नाम पर किस प्रकार बकलोली की वो आपको देखना चाहिए



किसी की नागरिकता छीनी नहीं जा रही, पर रविश कुमार देश में भय का माहौल बनाकर दंगे फसाद करवाना चाहते है, देश में इनकी योजना है गृह युद्ध करवाने की, और इसी कारण मुसलमानों को सन्देश दे रहे है की तुम्हारे साथ वही होगा जो हिटलर ने यहूदियों के साथ किया था, चुप मत बैठो 

रविश कुमार हर मुद्दे पर ही पत्रकारिता के नाम पर बकलोली करते है पर इनकी बकलोली का स्तर अब काफी ऊपर आ चूका है और अब ये मुहं से ही हगने लगे है