मुस्लिम पक्ष ने निकाल बाहर फेंका राजीव धवन को, मुसलमानों को खुश करने के लिए हिन्दुओ को खूब दी है गाली



जिस तरह तमाम गद्दारों का हश्र हुआ लगभग वही हश्र वकील राजीव धवन का हुआ है, राजीव धवन सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से सुप्रीम कोर्ट में मुसलमानों का पक्ष रख रहे थे और बाबरी मस्जिद बनवाने के लिए लड़ रहे थे 

राजीव धवन ने मुसलमानों को खुश करने के लिए हिन्दुओ के खिलाफ तमाम तरह की गतिविधियाँ की, पिछले दिनों तो इन्होने ये भी कहा की - उत्पात हिन्दू मचाते है, मुसलमान शांति प्रिय होते है

इस से पहले सुप्रीम कोर्ट में राजीव धवन ने अयोध्या जन्म भूमि का नक्षा भी फाड़ दिया था, इनकी इतिहास भी काफी कुख्यात रहा है और इसी चलते ये मुस्लिम पक्ष के पसंद थे 

अब जमियत नाम का मुस्लिम संगठन अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट में रिव्यु डाल चूका है पर अब मुस्लिम संगठन ने राजीव धवन को निकाल बाहर फेंका है 

इस बात का खुलासा स्वयं राजीव धवन ने ही किया है, राजीव धवन ने कहा की - मुझे अयोध्या मामले से मुस्लिम पक्ष ने निकाल दिया है, अब मैं उनका वकील नहीं रहा 

राजीव धवन ने लिखित में ये बात बताई है

साफ़ होता है की मुस्लिम पक्ष ने राजीव धवन का खूब इस्तेमाल किया पर राजीव धवन मुस्लिम पक्ष को जीत दिलवाने में कामयाब नहीं हो सके तो मुस्लिम पक्ष ने उनको निकाल बाहर फेंका है 

अब राजीव धवन की स्तिथि धोबी के कुत्ते की तरह हो चुकी है जो की न हिन्दुओ के रहे और न मुसलमानों के, न घर के रहे और न घाट के