JNU के अंकल आंटी स्टूडेंट्स पर फूटा लोगो का गुस्सा, मुफ्त की रोटियां तोडना चाहते है अधेड़ उम्र के तथाकथित छात्र



JNU के छात्र फिर सुर्ख़ियों में है और ये फिर नकारात्मक कारनामो के लिए ही सुर्ख़ियों में है, पहले तो JNU के छात्रों ने एक महिला शिक्षक पर हमला कर उसके कपडे फाड़ने की कोशिश की 

फिर इन कथित छात्रों ने हॉस्टल की फीस को लेकर दिल्ली की सड़कों पर जमकर दंगा फसाद किया, तस्वीरें सोशल मीडिया पर खून वायरल भी हुई जिसके बाद लोगो का गुस्सा फूट पड़ा

JNU का प्रशासन हॉस्टल फील को थोडा बढ़ाना चाहता है, मौजूदा दर के हिसाब से सिंगल बेड वाले कमरे का मासिक किराया 10 रुपए है जबकि डबल बेड वाले कमरे का किराया महज 20 रुपए प्रति महिना है

JNU प्रशासन इसे 10-20 रुपए से बढाकर 300 रुपए करना चाहता है इसी को लेकर JNU के अधेड़ उम्र के छात्रों के आज दिल्ली की सड़कों पर उत्पात मचाया 

आम लोगो को जब इस बारे में जानकारी प्राप्त हुई तो लोग सोशल मीडिया पर आक्रोशित होने लगे, लोगो का कहना है की - एक आम व्यक्ति को दिल्ली में ठीक ठाक कमरा चाहिए तो उसे 5 हज़ार रुपए प्रति महिना देना पड़ता है वहीँ JNU के 30 साल से भी अधिक उम्र के कथित छात्र सालों तक लगभग मुफ्त हॉस्टल और मुफ्त खाने का लुफ्त उठा रहे है 





लोगो का कहना है की 30-35 साल के छात्रों को लगभग मुफ्त हॉस्टल क्यों दिया जाये, ये लोग सालों तक इन हॉस्टल्स पर कब्ज़ा करके रहते है, इन लोगो को हॉस्टल से निकालना चाहिए ताकि नए लोगो को हॉस्टल में रहने का मौका तो मिले 

JNU के छात्र 10-20 रेंट प्रति महिना देना चाहते है इसके साथ साथ ये वही लोग है जो इकॉनमी और अन्य चीजों पर भाषण भी देना चाहते है