BMC में भी टूट सकता है बीजेपी-शिवसेना का साथ, शिवसेना कर सकती है सपा-AIMIM से गठबंधन



महाराष्ट्र में अब साफ़ हो चूका है की शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बना रही है, कांग्रेस इस सरकार में शामिल न होने का फैसला कर रही है हालाँकि वो सरकार को बाहर से समर्थन देगी 

सरकार में शिवसेना और एनसीपी के मंत्री होंगे, फ़िलहाल शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के नेताओं के बीच में बैठकें और बातें चल रही है, सरकार बनाने का औपचारिक ऐलान ही बाकी है

शिवसेना के कोटे से मोदी मंत्रिमंडल में शामिल अरविन्द सावंत ने भी केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है, शिवसेना-बीजेपी के हर प्रकार के गठबंधन के ख़त्म होने का ऐलान कभी भी किया जा सकता है 

इसके साथ ही एक और बड़ी जानकारी ये सामने आ रही है की अब मुंबई के नगरनिगम जिसे BMC कहा जाता है वहां भी शिवसेना और बीजेपी का साथ टूट सकता है 

वर्तमान में BMC पर किसी एक पार्टी का साफ़ कब्ज़ा नहीं है, BMC में कुल 227 सीटें है जिसमे से शिवसेना के पास 92 और बीजेपी के पास 82 सीटें है, शिवसेना का मेयर है और बीजेपी उसे समर्थन कर रही है

जानकारी के मुताबिक अब BMC में भी शिवसेना और बीजेपी अलग अलग हो जायेंगे और शिवसेना बीजेपी की जगह BMC में भी एनसीपी कांग्रेस और अन्य के साथ मिलकर सत्ता बनाएगी

शिवसेना BMC में समाजवादी पार्टी और ओवैसी के AIMIM से भी गठबंधन कर सकती है, BMC में 6 सीटें समाजवादी पार्टी के पास है वहीँ AIMIM के पास भी 2 सीटें है, शिवसेना इन दोनों पार्टियों का भी समर्थन ले सकती है, इसके साथ साथ कांग्रेस के पास 30 और एनसीपी के पास 9 सीटें है 

आने वाले दिनों में महाराष्ट्र की राजनीती पूरी तरह से बदली हुई नजर आयेगी, बीजेपी एक तरफ दिखाई देगी तो वहीँ बाकि सभी दल एक तरफ