ZOMATO की बिक्री गिरने का अनुमान, कैंसलेशन भी काफी बढ़ा, बैंड बज गया कंपनी का


सोशल मीडिया पर अब ZOMATO का वही हाल हो रहा है जो की कुछ सालों पहले Snapdeal का हुआ था, ZOMATO के खिलाफ देश के लोग अब एकजुट होकर खड़े हो गए है 

हुआ ये था की एक हिन्दू ग्राहक ने ZOMATO से विनती करी थी की उसके यहाँ श्रवण चल रहा है अतः मुस्लिम राइडर की जगह कोई और राइडर भेजे, इसपर ZOMATO ने उस ग्राहक को सेकुलरिज्म का ज्ञान दिया था और उसका आर्डर कैंसिल कर पैसे भी वापस नहीं दिए थे 

इसके बाद सोशल मीडिया पर ZOMATO की दोगलई सामने आ गयी, ZOMATO इस से पहले हलाल और मुस्लिम ग्राहकों को लेकर अलग ही रुख दिखाता था, पर हिन्दू ग्राहक को ZOMATO ने आँख दिखाई 

सोशल मीडिया पर ZOMATO एक्सपोज हो गया जिसके बाद ट्रेंड करने लगा "BoycottZOMATO", लोगो ने बड़े पैमाने पर ZOMATO को अपने फ़ोन से हटाना शुरू कर दिया और साथ ही साथ ZOMATO के आर्डर कैंसलेशन का रेट भी काफी बढ़ गया 

अब अनुमान लगाया जा रहा है की ZOMATO की सेल्स में काफी कमी आई है, और कैंसलेशन भी काफी बढ़ा है, और इसे लेकर कंपनी दबाव में भी आ गयी है, सिर्फ 2 दिनों में कंपनी की हेकड़ी निकालनी शुरू हो गयी है 

एक ग्राहक ने एक चैट का स्क्रीनशॉट भी डाला जिसमे ZOMATO ने झुकते हुए हिन्दू राइडर ही भेजने की बात मान ली, जबकि इस से पहले ZOMATO सेकुलरिज्म का ज्ञान दे रहा था 

लोग भी ZOMATO को बक्ष्ने के मूड में नहीं है, अब लोग ZOMATO की चीनी फंडिंग को भी एक्सपोज किया जा रहा है 

दरअसल ZOMATO में भारी मात्रा में विदेशी कंपनियों ने पैसा लगाया हुआ है, और चीन की बड़ी कंपनी अलीबाबा ने भी ZOMATO में 200 मिलियन अमरीकी डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया हुआ है, लोगो का कहना है की अगर ZOMATO का नुक्सान होता है तो सीधा चीन का नुक्सान होगा

जिस तरह से सोशल मीडिया पर ZOMATO को लेकर ट्रेंड चल रहा है, सेकुलरिज्म का ज्ञान देने के बाद कोई सेल्स तो बढे नहीं उल्टा हिन्दू एकजुट हो गए और ZOMATO का बैंड बजा दिया गया 
loading...
Loading...



Loading...