बकरीद पर बकरे का कलेजा नहीं मिला तो अपनी भतीजी का कलेजा निकाल दिया मोहम्मद सलीम ने



जिस शख्स को आप ऊपर तस्वीर में देख रहे है, इस मजहबी शैतान को इन्सान कहना ही अपने आप में एक अपराध है 

इसने अपनी भतीजी का कलेजा इसलिए निकाल दिया क्यूंकि इसे बकरीद पर बकरे का कलेजा नहीं मिला 

मामला दिल्ली से लगे गाज़ियाबाद के खेडा थाने का है जहाँ पर रहने वाले मोहम्मद सलीम ने 12 अगस्त यानि बकरीद के दिन अपनी भतीजी को उठा लिया और उसे मारकर फेंक डाला 

हुआ ये की 12 अगस्त को बकरीद थी, मोहम्मद सलीम के परिवार ने बकरा काटा था और मोहम्मद सलीम को बकरे का कलेजा चाहिए था 

पर लाइबा नाम की उसकी सगी भतीजी बकरे के कलेजे को सलीम के घर देने की जगह अपने घर ले गयी, इस बात से मोहम्मद सलीम आग बबूला हो गया 

फिर मोहम्मद सलीम ने लाइबा को उठाया और उसे बुरी तरह मार डाला और पास ही के एक मंदिर के पास लाश को फेंक दिया ताकि नाम हिन्दुओ पर लगाया जा सके 

12 अगस्त से बच्ची लापता थी तो पुलिस के पास मामला पहुंचा, 17 अगस्त को बच्ची मिली, पुलिस ने जांच किया तो पुलिस को मोहम्मद सलीम की हरकतें संदिग्ध लगी, सख्त पूछताछ हुई तो सलीम ने सबकुछ कुबूल कर लिया

बकरीद पर बकरे का कलेजा नहीं मिला तो मोहम्मद सलीम ने अपनी ही भतीजी लाइबा का कलेजा निकाल दिया और उसे मारकर मंदिर के पास फेंक दिया, मोहम्मद सलीम अब गिरफ्त में है