सलाउद्दीन ने दिया तीन तलाक, बेगम बोली - कानून बन चूका तू गया मुल्ला, बोला - सॉरी गलती हो गयी


पहले पुरुषों के हाथ में हथियार था तीन तलाक का जिस से वो महिलाओं को डराते थे, कई बार तो तीन तलाक देकर हलाला का शोषण भी करवाते थे, और कई मामलों में जिंदगी बर्बाद कर देते थे 

पर अब महिलाओं के पास हथियार है कानून का, और महिलाओं ने इस हथियार का इस्तेमाल शुरू भी कर दिया है 

तीन तलाक का कानून पास होने के बाद अब एक मामला हरियाणा से जहाँ पर सलाउद्दीन नाम के एक शख्स ने अपनी बेगम पर पिछले कई दिनों से दहेज़ को लेकर अत्याचार कर रखा था 

सलाउद्दीन लगातार बेगम को डराता रहता था, तीन तलाक और हलाला का खौफ दिखाता रहता था, फिर उसने अपनी सास को फ़ोन पर कह दिया की उसने उनकी बेटी यानि अपनी बेगम को तीन तलाक दे दिया है 

जब बेगम को इस बात का पता चला तो उसने सलाउद्दीन को कहा की - अब कानून बन चूका है, तूने बहुत अत्याचार कर लिया मुल्ला अब जा रही मैं थाने, सलाउद्दीन उसके बाद अपनी बेगम से माफ़ी मांगने लगा और कहा की - मुझसे गलती हो गई सॉरी 

मामला हरियाणा के मेवात जिले खेडली नूंह निवासी साजिदा की शादी करीब दो साल पहले पिनगवां के ढाढोली निवासी सलाउद्दीन के साथ हुई थी. शादी के बाद से ही उसका पति उसे दहेज के लिए परेशान करने लगा. जिससे तंग आकर उसने अपने पति व उसके परिवार वालों के खिलाफ  दहेज मांगने व मारपीट करने का केस दर्ज करा दिया.

इसी बात से चिढ़कर आरोपित ने लड़की की मां को फोन कर कहा कि उसने साजिदा को तीन बार तलाक बोलते हुए तलाक दे दिया है. 

अब वे अपनी लड़की को उसके पास न भेजें. इसके बाद पीड़िता ने अपने शौहर के खिलाफ तीन तलाक के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया. 

शिकायत पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ  मुस्लिम वुमन प्रोटेक्शन ऑफ राईट्स ऑन मैरिज एक्ट 2019 की धारा 4 तथा आईपीसी की धारा 506 के तहत केस दर्ज कर लिया. केस दर्ज होने के बाद सलाउद्दीन का कहना है कि वह पत्नी को रखने के लिए तैयार है, उससे गलती हो गई थी.
loading...
Loading...



Loading...