मैकडोनाल्ड का ऐलान - हम इंडिया में सिर्फ हलाल मांस बेचेंगे, खाना है खाओ या भाड़ में जाओ



इस देश में भले विदेशी कम्पनियाँ भले ही सारा व्यापार और पैसा बहुसंख्यक हिन्दुओ के बल पर कमाती है पर बहुसंख्यक हिन्दुओ को ये कम्पनियाँ कीड़ा मकौड़ा भी नहीं समझती

और इसका कारण ये भी है की खुद बहुसंख्यक हिन्दुओ को कोई फर्क नहीं पड़ता, हिन्दुओ की न कोई भावना होती है और अधिकतर हिन्दुओ में तो जरा भी आत्मसम्मान नहीं होता

अमेरिकी कंपनी मैकडोनाल्ड भारत से मोटा पैसा कमाती है, इसके ज्यादातर ग्राहक भी हिन्दू ही होते है पर इस कंपनी ने 1 बार नहीं बल्कि बार बार, और ZOMATO प्रकरण होने के बाद फिर खुलकर ऐलान किया है की

"हम भारत में सिर्फ और सिर्फ हलाल मांस ही बेचेंगे, जिसे खाना है खाए और जिसे नहीं खाना वो भाड़ में जाये"

मैकडोनाल्ड नामक ये कंपनी हिन्दुओ को भी हलाल मांस खिला रही है वो भी ऐंठ के साथ, खाना है खाओ तुम्हारी भावना से हमे कोई फर्क नहीं पड़ता

देखिये किस प्रकार मैकडोनाल्ड ने फिर एक बार सिर्फ हलाल मांस बेचने का ऐलान किया

हलाल मांस मूल रूप से इस्लामिक मान्यता के आधार वाला मांस होता है, मुसलमान सिर्फ हलाल मांस खाते है, दूसरा मांस खिलाने पर हिंसा पर भी उतर जाते है, अब मैकडोनाल्ड पहले भी ऐसा ऐलान कर चूका है की वो सिर्फ और सिर्फ हलाल मांस ही इस्तेमाल करता है 

और एक बार फिर मैकडोनाल्ड ने मुसलमानों की धार्मिक भावना का साम्मान करते हुए डंके की चोट पर सिर्फ हलाल मांस इस्तेमाल करने का ऐलान किया 

मैकडोनाल्ड का ऐलान है की मुसलमानों की धार्मिक भावना का वो पूरा ख्याल रखेगा, हलाल मांस ही बेचेगा, हिन्दुओ को खाना है तो खाए वरना भाड़ में जाये 

मैकडोनाल्ड नामक कंपनी ऐसी उद्दंडता इसलिए कर पा रही है क्यूंकि सच बात ये है की इस देश में अधिकतर हिन्दुओ को भी कोई फर्क नहीं पड़ता की वो हलाल मांस खा रहे है या फिर नहीं, हिन्दुओ की न कोई धार्मिक भावना है और न ही हिन्दुओ में कोई जागरूकता है
loading...
Loading...



Loading...