सेक्युलर वर्ग के समर्थन से गौतस्करों के हौंसले बुलंद, अब गाँव वालो पर बरसाई गोलियां


इस देश में सेक्युलर वर्ग ने मजहबी उन्मादियों के सारे अपराधो को माफ़ ही कर रखा है, और यहाँ तक की मजहबी उन्मादियों के अपराधों में सेक्युलर वर्ग उनका पूरा साथ देता है 

कई उदाहरण है, सेक्युलर वर्ग तो झारखण्ड के चोर तबरेज़ अंसारी के साथ भी खड़ा था और सेक्युलर वर्ग जो आये दिन गौ रक्षकों के खिलाफ मुहीम चलाता है वो गौ तस्करों पर का पुरजोर समर्थन करता है 

उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब जैसे राज्यों में गौहत्या कानूनन अपराध है, गौ तस्करी कानूनन अपराध है, पर इसके बाबजूद मजहबी उन्मादी अपराध करते है और सेक्युलर वर्ग अपराधियों का समर्थन करता है और गौ रक्षकों यानि कानून के रक्षकों का विरोध करता है 

सेक्युलर वर्ग के समर्थन के चलते अब कई इलाकों में गौ तस्करों और मजहबी अपराधियों के हौंसले बुलंद है

अब राजस्थान के अलवर में गौ तस्करों के हौंसले इतने बुलंद है की खुलकर गाँव वालो पर गोलियां बरसाई जा रही है 

 बता दें कि राजस्थान के अलवर के में एक बार फिर गो तस्करी का मामला सामने आया है. जब ग्रामीणों ने गोतस्करों को रोकने की कोशिश की तो गोतस्करों ने ग्रामीणों पर फायरिंग कर दी, जिसके एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक पत्थर पहाड़ी गांव के गौतस्कर नंगला धन सिंह की ओर जाने वाले कच्चे रास्ते से गायों को लेकर जा रहे थे. 

जहां रास्ते में कुछ स्थानीय लोग बोरिंग पर देर शाम को लगे हैंडपंप पर नहा धो रहे थे. गो तस्करों को देख उनमें से एक युवक ने उन्हें रोककर उनसे पूछताछ करनी चाही. इस कारण गो तस्कर भागने लगे. जिसके बाद कुछ युवकों द्वारा उनका पीछा किया गया और उन्होंने एक गो तस्कर को पकड़ लिया.

इसके बाद गौतस्करों ने ग्रामीणों पर गोलियां चला दीं जो रामजीत नामक ग्रामीण के हाथ और छाती में लगी. इधर युवकों द्वारा शोर-शराबे करने पर और ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए. 

जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा गो तस्कर की जमकर पिटाई की गई. वहीं घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गौतस्कर को गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए गौतस्कर ने अपना नाम सलीम पुत्र शादी खां निवासी नांगल गुलपाडा थाना कैथवाड़ा बताया है.
loading...
Loading...



Loading...