औरैया के मंदिर में हिन्दू साधुओं को मारने वाला मोहम्मद निजामुद्दीन आख़िरकार पकडाया, गौहत्या का विरोध करने पर मारा था हिन्दू साधुओं को


आपको उत्तर प्रदेश के औरैया के हिन्दू साधू याद होंगे जिनको मंदिर में मौत के घाट उतार दिया गया था, साधुओं ने गौहत्या के खिलाफ आवाज उठाई थी जिसके बाद उनको मंदिर में घुसकर रात के अँधेरे में मौत के घाट उतार दिया था 

लगभग 1 साल बाद अब उन साधुओं के हत्यारे मोहम्मद निजामुद्दीन को गिरफ्तार कर ही लिया गया है 

पिछले साल 14 अगस्त की रात को उत्तर प्रदेश के औरैया के बिधूना कोतवाली क्षेत्र के कुदरकोट गाँव में पुरहा नदी के किनारे बने भयानकनाथ के नाम से प्रसिद्ध शिव मंदिर पर पुजारियों लज्जाराम, हरभजन, और रामशरण पर देर रात हमला बोला गया था

जिसमे 2 पुजारियों की जीभ काटकर गर्दन भी धड़ से अलग कर दी गयी थी, जबकि एक पुजारी को पुलिस ने मरणासन्न कर बदमाश भाग गए थे.

 स्थानीय लोगों के अनुसार पुजारियों ने इलाके में गो-तस्करी और गोकशी रोकने के लिए आवाज उठाई थी. जिसके चलते गो-तस्करों ने उनकी गर्दन के साथ जीभ भी काट दी. पूरे मामले पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसटीएफ) सत्यार्थ अनिरूद्व पंकज ने यहां बताया कि पिछले काफी दिनों से कुख्यात फरार/पुरूस्कार घोषित अपराधियों के सक्रिय होकर तस्करी व लूट/डकैती, आदि अपराधों में लिप्त होने की सूचनायें मिल रही थी.

इस मामले में एसटीएफ की विभिन्न इकाईयो/टीमों को अभिसूचना संकलन के निर्देश दिये गये थे. उन्होंने बताया कि एसटीएफ की टीम ने शनिवार को गठियार उर्फ निजामुद्दीन को फर्रूखाबाद में खटकपुरा इलाके में उसके दामाद रजी कुरैसी के मकान के सामने से गिरफ्तार कर लिया. 
loading...
Loading...



Loading...