बरेली के मौलाना ने दी धमकी - अगर जनसँख्या नियंत्रण का कानून लाया तो अच्छा नहीं होगा, दंगे फसाद की दी धमकी



जनसँख्या विस्फोट भारत की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है, और सभी मानते है की जनसँख्या को नियंत्रनित करना जरुरी है वरना देश को आने वाले समय में कठिनाइयों से जूझना पड़ेगा 

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस विषय पर 15 अगस्त को लाल किले पर बोला था और जनसँख्या नियंत्रण की बात की थी 

जनसँख्या नियंत्रण के लिए एक कानून की मांग तो काफी लम्बे समय से हो रही है औरजनसँख्या नियंत्रण धर्म के आधार पर नहीं होना है बल्कि सबके लिए एक ही कानून होगा 

पर जब से प्रधानमंत्री मोदी ने जनसँख्या नियंत्रण पर बयान दे दिया है तभी से मुस्लिम समुदाय से जुड़े हुए लोग काफी आक्रोशित हो रहे है और अभी से देश को धमकी भी देने लग गए है 

ये लोग धारा 370 को लेकर भी देश को धमकी दे रहे थे, ये लोग तीन तलाक को लेकर भी देश में दंगे फसाद की धमकी दे रहे थे और अभी जनसँख्या नियंत्रण का कानून आया भी नहीं न ही उसपर चर्चा ही शुरू हुई है पर ये अभी से ही देश में दंगा फसाद की धमकी दे रहे है 

बरेली के एक मौलाना ने जनसँख्या नियंत्रण को ही इस्लाम विरोधी बता दिया है और कहा है की - जनसँख्या नियंत्रण इस्लाम में नहीं है इसलिए हम जनसँख्या नियंत्रण नहीं करेंगे, और अगर जनसँख्या नियंत्रण के लिए कोई कानून आ गया तो अच्छा नहीं होगा और हम सख्त विरोध करेंगे 

मौलाना ने जनसँख्या नियंत्रण पर देश को जलाने की धमकी दी 


मौलाना का नाम शहाबुद्दीन है जो की जनसँख्या नियंत्रण के कानून के नाम से ही काफी आक्रोशित है और अभी से ही धमकिबाजी पर उतर आये है
loading...
Loading...



Loading...