कुर्बानी के जानवर बेच रही पाक सेना, भारत से युद्ध लड़ने के क्या सैलरी के पैसे भी नहीं


नरेंद्र मोदी ने कोई अचानक से मन बना लिया हो कश्मीर से धारा 370 हटाने का ऐसा बिलकुल नहीं है, इसके लिए सालों की प्लानिंग की गयी है 

सबसे पहले भारत ने पाकिस्तान को आर्थिक तौर पर कमजोर किया, पाकिस्तान की जीडीपी बर्बाद हुई, वहां खाने पीने की किल्लत हुई, महंगाई बढ़ी 

कोई भी देश बिना पैसे के युद्ध नहीं लड़ सकता, और पाकिस्तान जिसके पास लाखों की सेना है और परमाणु बम भी है उसे काबू में करने के लिए पहले उसे बर्बाद करना जरुरी था 

पकिस्तान पहले भारत को युद्ध की धमकियाँ देता था, परमाणु बम की धमकियाँ देता था, पर अब पाकिस्तान परमाणु बम और युद्ध की धमकियाँ नहीं देता 

भारत ने कश्मीर से धारा 370 हटा दी तो पाकिस्तान ने युद्ध की धमकी नहीं दी और संयुक्त राष्ट्र और दुसरे देशों से मदद मांगी, इसका कारण आपको समझना चाहिए 

असल में पाकिस्तान कंगाल हो चूका है ये भारत से युद्ध तो क्या सेल्फ डिफेन्स करने के लायक भी फ़िलहाल नहीं है, पाकिस्तान की सेना की तो ये हालत हो गयी है की खुद सेना अब जानवर बेच रही है, सेना पार्किंग चार्ज वसूलने का काम कर रही है 


पाकिस्तान की आर्मी और वहां की एयर फाॅर्स ईद पर कुर्बानी के जानवर बेच रही है, ताकि कुछ पैसे ईद के नाम पर ही कमाए जा सके, इसके अलावा पाकिस्तान की सेना पार्किंग चार्ज का बिज़नस भी शुरू कर चुकी है 

ये हालत पाकिस्तान की सेना की है जिसे जानवर बेचने पड़ रहे है, अब ये सेना युद्ध की धमकी और युद्ध कहाँ से कर सकती है, नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को पहले आर्थिक तौर पर कमजोर किया और उसके बाद ही धारा 370 हटाया, ताकि भिखारी पाकिस्तान की सेना भी भिखारी हो जाये और ऐसी सेना फिर न युद्ध लड़ सकती है और न परमाणु बम ही छोड़ सकती है 
loading...
Loading...



Loading...