इतने फटके पड़े की अब एजाज खान ने बनाई "जय श्री राम" नाम की फिल्म और बोला - न मुस्लमान हूँ न हिन्दू, मैं तो पहले भारतीय हूँ


एक बात आपको समझ लेना चाहिए की ये जितने भी मजहबी उन्मादी होते है, वो तबतक ही चिल्लाते है जबतक उनको डंडा नहीं पड़ता, अगर उनको डंडा पड़ जाये तो उनसे ज्यादा बड़ा कायर कोई नहीं होता

कई उदाहरण है - पाकिस्तान जो की परमाणु बम की धमकी देता था, एयर स्ट्राइक के बाद से एक भी पाकिस्तानी नेता और मीडिया वाले ने ऐसी धमकी नहीं दी है

आये दिन महबूबा मुफ़्ती कहती थी की - धारा 370 को टच किया तो उस हाथ को राख कर देंगे, धारा 370 को टच तो क्या, ख़त्म भी कर दिया गया, कोई अफज़ल घर से नहीं निकला

और एक और बड़ा उदाहरण है वो है एजाज खान - ये ऐसा मजहबी उन्मादी था जो विडियो बनाकर धमकियाँ दे रहा था, धमकी दे रहा था की सबको कलमा पढ़ा कर मुसलमान बना देगा

ये धमकी दे रहा था की - हम हिंदुस्तान में मुसलमान लीगल और इललीगल मिलाकर 40 करोड़ है, ये तबतक धमकी देता रहा जबतक इसे मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया

और अब एजाज खान को इतने फटके मिले है की ये अचानक से ही इतना सेक्युलर हो चूका है की कह रहा है की - मैं न हिन्दू हूँ और न ही मैं मुसलमान हूँ, सबसे पहले तो मैं भारतीय हूँ

देखिये


ये इतना सेक्युलर हो चूका है की इसने अब जय श्री राम नाम की एक फिल्म ही PRODUCE कर दी है और इसने सन्देश ये दिया की - हम भारतीय हैं, हम न हिन्दू है और न मुसलमान है, हम तो भारतीय है, मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना

पहले सबको मुसलमान बना रहा था ये उन्मादी, फटके पड़े तो ये भारतीय हो चूका है, मजहबी उन्मादी तबतक ही शोर मचाता है जबतक उसे डंडा नहीं पड़ता, डंडा पड़ जाये तो उसके जैसा सेक्युलर फिर कोई नहीं 
loading...
Loading...



Loading...