काबुल में सुन्नी संगठन ने अल्लाह हु अकबर चिल्लाकर 63 शियाओं को मार डाला, 190 को कर दिया अधमरा



अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक बड़ा बम ब्लास्ट अटैक किया गया है, मूलतः ये सुसाइड बोम्बिंग अटैक था जिसे अल्लाह हु अकबर चिल्लाकर अंजाम दिया गया था 

आतंकी ने खुद को उड़ा लिया था, वो शरीर पर बम बांधकर आया था और अल्लाह हु अकबर चिल्लाकर उसने 63 शियाओं को मार डाला, इस हमले में 190 से ज्यादा शिया घायल है और कईयों की हालत बहुत ख़राब है, मृतकों का आंकड़ा बढ़ भी सकता है 

ये हमला शनिवार 17 अगस्त की रात को 10 बजकर 40 मिनट के आसपास हुआ, मूल रूप से शिया समुदाय की एक शादी थी, जिसमे शियाओं की पूरी भीड़ जमा थी, शिया शादी कर रहे थे 

इस मामले में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ घनी ने तालिबान का नाम लिया हालाँकि तालिबान ने इस हमले को अपना मानने से इंकार कर दिया जबकि सुन्नी संगठन ISIS ने हमले की जिम्मेदारी ले ली 

इस हमले में शिया दूल्हा मिरवैस बच गया, उसने बताया की उसकी पूरी फॅमिली और जिस शिया लड़की से उसका निकाह होना था वो ख़त्म हो गए

मिरवैस ने ये भी कहा की उसके भाई, उसके रिश्तेदारों को मार डाला गया, वो किसी तरह बच गया पर उसकी पूरी जिंदगी अब बर्बाद हो चुकी है 

मिरवैस बुरी तरह घायल है और वो अपने रिश्तेदारों के अंतिम संस्कार में भी नहीं जा सका, लड़की के परिजनों ने बताया की उनके घर में 14 रिश्तेदारों की मृत्यु हुई है 

घायलों का इलाज चल रहा है पर बताया जा रहा है की मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है क्यूंकि कई घायलों की स्तिथि काफी नाजुक है, सुन्नी संगठन ISIS ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए ख़ुशी जाहिर की 
loading...
Loading...



Loading...