3 पीढ़ियों से नहीं किया कोई जॉब, आखिर हजारों करोड़ की संपत्ति कहाँ से आई, धंधा क्या है ?


कुछ ही दिनों पहले जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक मीडिया संसथान से बातचीत के दौरान काफी कुछ बताया 

सत्यपाल मलिक ने बताया की वो जब से जम्मू कश्मीर के राज्यपाल बने है उसके बाद से वो जम्मू कश्मीर में काफी घुमे है 

वो किसी रेस्तरां में जाते है, किसी होटल, किसी अस्पताल में जाते है तो उनको पता चलता है की इसमें अब्दुल्ला, मुफ़्ती का हिस्सा है, उसमे हिस्सा है, विदेशों में प्लाट है, विदेशों में घर है 

सत्यपाल मलिक ये भी कहते है की पहले तो अब्दुल्ला खानदान के पास कुछ भी नहीं था तो अब इनके पास हजारों करोड़ की संपत्ति देश और विदेश में कहाँ से आई है ! 

जम्मू कश्मीर में अब्दुल्ला खानदान ने एक लम्बे समय तक राज किया है, 3 पीढ़ियों से ये खानदान राजनीती में ही है 

पहले नेहरु के ज़माने में शैख़ अब्दुल्ला, फिर उसके मरने के बाद उसका बेटा फारुख अब्दुल्ला और अब उमर अब्दुल्ला, एक के बाद एक इस खानदान के लोग विधायक, सांसद, मुख्यमंत्री बनते रहे 

पिछले 3 पीढ़ियों से इस खानदान में नौकरियां नहीं की गयी है, न ही कोई व्यापार किया गया है, सिर्फ राजनीती की गयी है, इनको सैलरी मिलती रही है विधायक के तौर पर, सांसद के तौर पर, मुख्यमंत्री के तौर पर, पर ये तनख्वाह इतनी नहीं है की आदमी करोडपति भी हो सके 

पर अब्दुल्ला खानदान के पास आज देश और विदेश में 2-4 नहीं बल्कि कई हज़ार करोड़ की संपत्ति है, और धारा 370 के हटने के बाद इसकी जांच में और तेजी ही आएगी, ये एक प्रमुख कारण है की ये खानदान नहीं चाहता की धारा 370 कभी हटे, ताकि इनकी राजनीती चलती रहे, लूट का धंधा चलता रहे और ये हजारों करोड़ से लाखों करोड़ की संपत्ति के मालिक हो सके 
loading...
Loading...



Loading...