"जय श्री राम न बोलने पर पीटाई" के मामलों पर बोले यूपी DGP - ज्यादातर मामले झूठे


उन्नाव, कानपुर, मुज़फ्फरनगर, बागपत और कई शहर, इन सभी स्थानों पर पिछले दिनों एक ही तरह की शिकायतें सामने आई

इन शिकायतों को मुस्लिम समुदाय के लोगो ने किया और मीडिया ने उनकी बात को एकदम सच की तरह चला दिया, न कोई जांच न कोई सबूत 

शिकायत ये होती की "जय श्री राम" न बोलने पर हिन्दू भीड़ ने मुस्लिम शख्स की पीटाई की, इन मामलों को मीडिया ने खूब तूल दिया और एक के बाद एक ऐसे मामलों की बाढ़ सी आने लगी 

पर पुलिस की जांच में मामले झूठे साबित हुए, कहीं क्रिकेट को लेकर लडाई हुई, तो कहीं पार्किंग को लेकर, तो कहीं किसी अन्य चीज को लेकर, पर आरोप लगा दिया गया की जय श्री राम न बोलने पर पीटाई हुई और जमकर विक्टिम कार्ड खेला गया 

भारत की छवि भी बिगाड़ने की कोशिश हुई, पर पुलिस ने जांच करी तो मामले झूठे निकले, अब इन्ही मामलों पर उत्तर प्रदेश पुलिस के मुखिया यानि DGP ओपी सिंह ने एक बयान दिया है 

ओपी सिंह ने कहा की, इस तरह की फर्जी शिकायतें माहौल को ख़राब करने के मकसद से लगाई जा रही है, ज्यादातर मामले बिलकुल झूठे साबित हुए है, उन्नाव का मामला हो या फिर अलीगढ का मामला हो, सभी मामलों की जाँच की गयी है और सभी झूठे साबित हुए है