केजरीवाल का नया कारनामा, चीन की जासूस कंपनी को दिल्ली में CCTV लगाने का दिया ठेका


इस देश में अर्बन नक्सली काफी गहरी पैठ बनाकर बैठे हुए है, मुफ्तखोरी का लालच दिखाकार ये सत्ता में भी आसानी से पहुँच जाते है और हमारी जनता इनको मुख्यमंत्री भी बना देती है 

दिल्ली का भी ये ही हाल है, सालों तक मिशनरियों और अर्बन नक्सली तत्वों के साथ कार्य कर चुके अरविन्द केजरीवाल को जनता ने मुख्यमंत्री बना दिया 

और अब इसी मुख्यमंत्री का नया कारनामा भी सामने आ चूका है, दरअसल केजरीवाल ने दिल्ली में 15 लाख CCTV कैमरे लगवाने का वादा किया था, 4.5 साल इसपर कोई काम नहीं हुआ पर अब चुनाव सर पर है तो कैमरे को लगाने का काम थोडा बहुत ही शुरू किया गया है 

पर इस काम के लिए केजरीवाल ने जो कारनामा कर दिया है उसपर केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसीयों को नजर रखने की जरुरत है क्यूंकि अब चीन की नजर हमारे देश की राजधानी पर 24 घंटे के लिए होने वाली है 

केजरीवाल ने दिल्ली में CCTV लगाने और उसके नियंत्रण, मैनेजमेंट का ठेका एक चीनी कंपनी को दिया है इस कंपनी का नाम Hikvision है, इस कंपनी का जो करता धर्ता यानि मालिक है वो चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का नेता है 


ये कंपनी मूल रूप से एक चीनी जासूसी कंपनी है और ये CCTV और अन्य सिक्यूरिटी प्रोडक्ट्स की आड़ में चीनी सरकार के लिए जासूसी का कार्य करते अमेरिका और यूरोप में पकडाई भी है इसी कारण अमेरिका और यूरोप में इस कंपनी को बैन किया गया है 

केजरीवाल ने इसी कंपनी को जो की मूल रूप से चीन की जासूसी कंपनी है, और इसका मालिक चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का नेता है उसे दिल्ली में CCTV लगाने का ठेका दिया है, ये देशद्रोह का एक नया ही कारनामा है जिसे केजरीवाल ने अंजाम देकर देश की राजधानी दिल्ली को खतरे में डाल दिया है