CBI के छापे पड़े इंदिरा जयसिंह और उसके पति पर, दर्द हुआ भूषण केजरीवाल को


भारत में एक गैंग है, इस गैंग में बहुत एकता है, आतंकवादियों के लिए केस लड़ना हो, कोर्ट में दलाली का कार्य करवाना हो, रोहिंग्या और बांग्लादेशियों की पैरवी करना हो, पाकिस्तान परस्ती करना हो, कश्मीरी आतंकियों का समर्थन करना हो, सेना विरोध करना हो, चीन की दलाली करना हो, हर मामले में ये ही गैंग सक्रीय है, और इस गैंग के जाने माने चेहरे भी है, आम तौर पर इस गैंग को "अर्बन नक्सल" भी कहा जाता है 

मोदी सरकार से अर्बन नक्सल गैंग काफी दुखी है, इनकी फंडिंग को बंद हो किया गया है, इनके NGO के लाइसेंस कैंसिल जो किये गए है, हवाला का इनका कारोबार जो बंद किया गया है, ऊपर से इनके ऊपर कार्यवाही भी हो रही है 

आज सीबीआई ने इंदिरा जयसिंह नाम और उसके पति आनंद ग्रोवर पर छापे मारे, और उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया, छापे तो पड़े इंदिरा जयसिंह और उसके पति के ठिकानों पर पर सीधा दर्द पूरी गैंग को ही हो गया 

दर्द से 2 बड़े नाम आज कराह उठे जैसे उनको लगने लगा की अब बारी उनकी न आ जाये, इन दो बड़े नामो में प्रशांत भूषण और अरविन्द केजरीवाल शामिल है 

सीबीआई ने गलत छापे मारे है, और गलत केस दर्ज कर लिया है तो कोर्ट में दूध का दूध और पानी का पानी हो ही जायेगा, वो निर्दोष है तो बाइज्ज़त बरी भी किये जायेंगे और सीबीआई को शर्मिंदा भी होना पड़ेगा, पर जिस तरह से आज प्रशांत भूषण और केजरीवाल बौखलाए है वो देखने लायक है, देखिये 




अभी कोर्ट ने कोई फैसला भी नहीं दिया है पर इन दोनों ने सीबीआई पर निशाना साधकर इंदिरा जयसिंह और उसके पति आनंद ग्रोवर को खुद जज बनते हुए निर्दोष भी साबित कर दिया है और सीबीआई पर ही उल्टा आरोप लगा दिया है 

जिस कदर ये लोग बौखला रहे है उस से साफ़ हो जाता है की सीबीआई जो कार्यवाही कर रही है उस से अर्बन नक्सल समूह परेशान है और इनकी परेशानी देखते ही बनती है