इमरान खान ने सोचा रूस अब मदद करेगा, पर पुतिन के कुछ और ही थे प्लान


भिखारी और आतंकवादी मुल्क पाकिस्तान के एक और फर्जी सपने को जोरदार झटका लग गया है, ये झटका रूस और रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पाकिस्तान और इमरान खान को दिया है 

रूस ने पाकिस्तान के साथ किसी भी मिलिट्री डील से इंकार कर दिया है, और साथ ही पाकिस्तान द्वारा 50 हज़ार AK रायफल के डील को भी रद्द कर दिया है 

पिछले कई दिनों से पाकिस्तानी मीडिया काफी शोर मचा रही थी की इमरान खान ने खूब बढ़िया कूटनीति की है और रूस को अपने पक्ष में कर लिया है और अब रूस पाकिस्तान की मदद करेगा 

पाकिस्तानी मीडिया फेकम फेक कर रही थी की रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को इमरान खान ने पक्का दोस्त बना लिया है और दोनों नेताओं के बीच खूब मजबूत सम्बन्ध स्थापित हो गए है 

पाकिस्तानी मीडिया बता रही थी की चीन भी पाकिस्तान का दोस्त है, वहीँ अब रूस जो की भारत के साथ खड़ा दिखाई देता था वो भी अब पाकिस्तान के पक्ष में आ चूका है और इमरान खान ने बड़ी कुटनीतिक जीत हांसिल कर ली है 

पाकिस्तानी मीडिया अपने लोगो को ये भी सपना दिखा रही थी की रूस अब पाकिस्तान के साथ बड़े बड़े मिलिट्री डील करेगा 

मोदी सरकार की भी पाकिस्तान और पाकिस्तानी मीडिया की फेकम फेक पर नजर थी, इंटरनेशनल कूटनीति में कुछ भी हो सकता है, पर मोदी सरकार के आगे रूस और पाकिस्तान की दोस्ती ध्वस्त हो गयी क्यूंकि रूस ने भारत को आश्वस्त कर दिया है की पाकिस्तान के साथ वो कोई मिलिट्री डील नहीं करने वाला 

रूस पाकिस्तान में पाक रही खिचड़ी को देखते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय एक्टिव हुआ तो रूस ने भारत को आश्वासन दिया की पाकिस्तान के साथ वो कोई मिलिट्री डील नहीं कर रहा है, और सिर्फ आश्वासन ही नहीं दिया, रूस ने पाकिस्तान की एक रिक्वेस्ट भी रिजेक्ट कर दी जिसमे पाकिस्तान ने रूस से 50000 AK राइफल मांगे थे 


बता दें की पाकिस्तान की सेना के पास पहले से AK 56 राइफल है पर असल में वो रूस के राइफल नहीं है वो चीनी वर्शन है, और चीन से पाकिस्तान को मिले है, रुसी AK राइफल असली है जिसे पाकिस्तान पाना चाहता था पर रूस ने उसकी रिक्वेस्ट को रिजेक्ट कर दिया 

रूस ने भारत की मांग को स्वीकार किया और इस तरह पाकिस्तान के सपनो को झटका लग गया