अलीगढ में मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति ने दरोगा को बना लिया बंधक, टांग दिया बोनट पर


अभी तक बच्चे, बच्चियां, मंदिर ही निशाने पर थे पर अब पुलिस के अफसर भी सुरक्षित नहीं रहे, उन्मादियों के हौंसले अब इतने बुलंद हो चुके है की उनके अन्दर पुलिस का डर भी ख़त्म सा हो गया है 

राजनितिक सेकुलरिज्म के चलते देश में अब उन्मादी चारो ओर नंगा नाच मचा रहे है, और अलीगढ में तो इसका शिकार एक पुलिस अफसर भी हो गया 

अलीगढ में मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति ने एक सब इंस्पेक्टर को ही बंधक बना लिया, और उसे गाडी की बोनट पर टांग कर काफी देर तक घुमाता रहा

ओन ड्यूटी सब इंस्पेक्टर को इस तरह बंधक बनाकर गाड़ी की बोनट पर टांगने की चर्चा चारो ओर है, सब इंस्पेक्टर बचाओ बचाओ चिल्लाता रहा पर उसपर बर्बरता जारी रही

जिस शख्स ने इस घटना को अंजाम दिया है उसका नाम मोहम्मद यूसुफ़ है, और सब इंस्पेक्टर का नाम जितेन्द्र कुमार है, जैसे तैसे मोहम्मद यूसुफ़ के हाथों सब इंस्पेक्टर जितेन्द्र कुमार की जान बच पायी है 

रविवार को लगभग 11 बजे सब इंस्पेक्टर जितेन्द्र कुमार ड्यूटी कर रहे थे और वो चेकिंग के लिए तैनात थे, तभी उन्हें एक सफ़ेद रंग की गाडी आती दिखाई दी, जिसे रोकने का इशारा किया, पहले तो उस गाड़ी को धीरे किया गया फिर अचानक स्पीड बढ़ा दी गयी, फिर सब इंस्पेक्टर जितेन्द्र कुमार बोनट पर ही टांग लिए गए और फिर गाड़ी बढ़ा दी गयी 

जितेन्द्र कुमार बचाओ बचाओ चिल्लाते रहे पर ड्राईवर गाड़ी को हंस हंस कर चलाता रहा, ड्राईवर ने गाड़ी को नूरपुर गाँव की ओर मोड़ लिया, लेकिन अचानक किसी वजह से ड्राईवर को गाडी रोकनी पड़ी, वो फिर जितेन्द्र कुमार को अधमरा छोड़कर भाग गया, इस मामले में जब पुलिस ने कार्यवाही की तो मोहम्मद यूसुफ़ पकड़ा गया जो की अलीगढ का ही रहने वाला है