पाकिस्तान के अहमदिया मुस्लिम ने ट्रम्प को बताया, पाक में हमे काफिर बोलते है, जेल में डाल देते है


विडियो वायरल हो चूका है और इस विडियो को स्वयं वाइट हाउस ने ही बनाया है, जिसमे एक पाकिस्तानी अहमदिया मुसलमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सामने अपनी बात रख रहा है 

इस शख्स का नाम अब्दुल शुकूर है और ये 81 साल का है, ये पाकिस्तान से किसी तरह भागा है और अमेरिका पहुंचा है, इसे पाकिस्तान से भागना पड़ा क्यूंकि ये अहमदिया था 

अब्दुल शुकूर ने उर्दू में अपनी बात डोनाल्ड ट्रम्प के सामने रखी, उसकी बात को साथ खड़े एक शख्स ने अंग्रेजी में ट्रांसलेट किया और राष्ट्रपति को समझाया 

अब्दुल शुकूर ने कहा की - मुझे सिर्फ अहमदिया होने के कारण 5 साल कैद की सजा सुना दी, 3 साल जेल में रहने के बाद मैं रिहा हुआ, हम लोगो को पाकिस्तान में काफिर बोला जाता है, दुकानों को लूट ली जाती है, घरों को आग लगा दी जाती है 

अब्दुल शुकूर ने ये भी बताया की - अमेरिका में तो हम खुद को मुसलमान कह सकते है पर पाकिस्तान में खुद को मुसलमान कहने पर हमे सजा दी जाती है और काफ़िर बताया जाता है

देखिये विडियो 

अब्दुल शुकूर ने अपनी बात ख़त्म करने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प की लम्बी उम्र की दुवा भी की, अब्दुल शुकूर ने साफ़ कर दिया की अहमदिया, और शिया लोगो पर पाकिस्तान में किस तरह अत्याचार किया जाता है