जोमैटो की गुंडागर्दी, आज़ाद देश में हिन्दू ग्राहक को मुस्लिम कर्मचारी से आर्डर लेने के लिए कर रहा मजबूर


ये मजहबी आतंक है या फिर सेक्युलर आतंक, इस देश में एक ग्राहक पूरी तरह स्वतंत्र है की वो किस से सर्विस ले और किस से न ले

विदेशी कंपनी जोमैटो अब इस देश में एक हिन्दू ग्राहक को इस बात के लिए मजबूर कर रही है की वो एक मुस्लिम डिलीवरी वाले से अपने आर्डर की डिलीवरी ले, जबकि वो हिन्दू ग्राहक ऐसा नहीं करना चाहता

भारत एक स्वतंत्र देश है और सबको अपने मन के मुताबिक सर्विस लेने या उसे इंकार करने का अधिकार है पर विदेशी कंपनी जोमैटो ने गुंडागर्दी शुरू कर दी है और सर्विस लेने से इंकार करने पर हिन्दू ग्राहकों के पैसे काटने का काम शुरू कर दिया है

आज अमित शुक्ल नाम के एक शख्स ने जोमैटो से कुछ खाना मंगाया था, जोमैटो ने अमित शुक्ला को खाना भेजने के लिए एक मुस्लिम कर्मचारी को डिलीवरी बॉय के रूप में लगा दिया

अमित शुक्ल को ये ठीक नहीं लगा तो उन्होंने जोमैटो से कहा की, कर्मचारी बदल दीजिये या मेरा पैसा वापस कर दीजिये

पर जोमैटो ने गुंडागर्दी करते हुए हिन्दू ग्राहक को कहा की पैसे वापस नहीं मिलेंगे, हिन्दू ग्राहक ने आर्डर कैंसिल कर दिया तो उसके पैसे जोमैटो ने काट लिए



अमित शुक्ला ने जोमैटो से कहा की या तो आप राइडर बदल दीजिये या रिफंड कर दीजिये, पर जोमैटो ने अमित शुक्ला का पूरा पैसा ही काट लिया 

भारत जो की स्वतंत्र देश है, वहां ग्राहक को अपने मन मुताबिक सर्विस लेने या उसे इंकार करने का हक़ है, पर जोमैटो ने जबरजस्त गुंडागर्दी का नमूना पेश कर दिया है