मुफ्त का खाना खाने पहुँच जाते है खुद को सेक्युलर पत्रकार कहने वाले दोगले : कंगना रानौत


भारत के वामपंथी मीडिया को आज फिल्म अभिनेत्री कंगना रानौत ने जो जूता मारा है वो देखने लायक है, बड़े ही स्पष्ट शब्दों में आज देश के वामपंथी मीडिया के दलालों को जूता पड़ा है

हुआ ये था की पिछले दिनों एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कंगना रानौत ने एक विदेशी मीडिया संस्थान के भारतीय पत्रकार से सवाल लेने से इंकार कर दिया था, इसके बाद वामपंथी मीडिया वालो ने एक गैंग बनाया और घोषणा करी की हम कंगना रानौत का बहिष्कार करेंगे उसकी कवरेज नहीं करेंगे, कंगना रानौत को बैन कर देंगे

इस मामले पर आज कंगना रानौत ने अपना बयान दिया

कंगना रानौत ने कहा की - जिस शख्स से मैंने सवाल लेने से इंकार कर दिया था उस शख्स ने कई शर्मनाक कारनामे किये थे, कंगना रानौत ने बताया की उस शख्स ने प्लास्टिक के खिलाफ अभियान का मजाक उड़ाया था, उस शख्स ने जानवरों के खिलाफ हो रही बर्बरता के खिलाफ जो कैंपेन चलाया था उसका मजाक उड़ाया था और देशद्रोह की हरकतें की थी इसी वजह से उस से सवाल लेने से इंकार कर दिया था

कंगना रानौत ने बताया की खुद को सेक्युलर और लिबरल कहने वाले इन दोगलो को पत्रकार कहना भी ठीक नहीं है, ये दोगले को कार्यक्रमों में मुफ्त का खाना खाने पहुँच जाते है, इन लोगो को खरीदने के लिए लाखों रुपए नहीं चाहिए बल्कि ये तो 50-60 रुपए में बिकते है

कंगना रानौत ने ये भी कहा की - मुझे बैन करने वालो की चल रही होती तो आज मैं देश की सबसे अधिक फीस लेने वाली एक्ट्रेस नहीं होती, देखिये विडियो और ध्यानपूर्वक सुनिए किस प्रकार कंगना रानौत ने खुद को सेक्युलर और लिबरल कहने वाले कथित पत्रकारों को भींगा भींगा के जूता मारा