ATS का बड़ा खुलासा - मंदिरों के प्रसाद में जहर मिलाकर हिन्दुओ को मारना चाहते थे जाकिर नाइक के साथी


कहने को कहा जाता है की आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता, पर आतंकियों के निशाने पर धर्म के आधार पर ही लोग होते है 

फिर एक बार एक बड़ा खुलासा हुआ है और इस बार ये खुलासा महाराष्ट्र ATS की एक चार्ज शीट में हुआ है 

जनवरी में महाराष्ट्र ATS ने 9 आतंकियों को पकड़ा था, ये सभी आतंकी मुस्लिम समुदाय के थे, कोर्ट में अब ATS ने चार्ज शीट दाखिल की है और कोर्ट को बताया है की आतंकी क्या करने वाले थे 

कोर्ट में दायर चार्ज शीट में ATS ने बताया की, जितने भी आतंकी पकडे उन सभी ने स्वीकारा की वो इस्लामिक मजहब गुरु और भगोड़े जाकिर नाइक से प्रभावित थे, और उसके वीडियोस को देखा करते थे 

इन लोगो की योजना थी हिन्दू मंदिरों के प्रसाद में जहर मिलाने की, प्रसाद में जहर मिलाकर ये हिन्दुओ को बड़े पैमाने पर मौत के घाट उतराना चाहते थे 

इतना ही नहीं कुम्भ के दौरान भी ये हिन्दुओ के खिलाफ बड़ी साजिश रच रहे थे और बड़े पैमाने पर हिन्दुओ के नरसंहार की योजना थी 

कहने को आतंक का कोई मजहब नहीं होता पर एक बार फिर साबित हुआ की आतंकी मजहब गुरु से प्रभावित होकर मुसिलम समुदाय के लोग हिन्दुओ के नरसंहार की योजना पर काम कर रहे थे, ये तो वो पकडे गए अन्यथा देश में बड़े पैमाने पर अशांति फैला चुके होते