35A का काउंट डाउन शुरू, कश्मीर में सेना की 100 अतिरिक्त कंपनियां रवाना, बड़ी कार्यवाही के संकेत


जम्मू कश्मीर राज्य से धारा 370 और 35A को ख़त्म करना भारतीय जनता पार्टी के घोषणापत्र का हिस्सा है, धारा 370 से पहले सरकार 35A को ख़त्म करने की पूरी तैयारी कर चुकी है और अब इसके पुरे संकेत भी दिए जा चुके है 

राष्ट्रिय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल के नेतृव्त में एक बैठक के बाद जम्मू कश्मीर में भारतीय सेना की 100 अतिरिक्त कंपनियों को तैनात करने का निर्णय लिया गया है और सेना की कम्पनियाँ कश्मीर के लिए रवाना भी हो चुकी है 

सरकार जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बालों की संख्या को बढ़ा रही है जिसके बाद वहां के स्थानीय नेताओं खासकर अब्दुल्ला मुफ़्ती की बिलबिलाहट भी बढ़ गयी है 

आज ही मेहबूबा मुफ़्ती ने सेना की अतिरिक्त तैनाती का विरोध किया है, पर सरकार मन बना चुकी है 

जानकारी के मुताबिक गृह मंत्री अमित शाह कश्मीर के दौरे पर जाने वाले है और फिर उसके बाद सरकार जम्मू कश्मीर से 35A को समाप्त करने का ऐलान कर सकती है 

सरकार को भी ये पता है की इस फैसले के बाद कश्मीर में तनाव बढ़ेगा चूँकि जिहादी नेता वहां आतंक मचाएंगे, इसके लिए सरकार पहले से पुख्ता इंतेज़ाम करने में जुटी है 

बता दें की जम्मू कश्मीर हज़ारों साल से भारत का अभिन्न अंग रहा है, कांग्रेस की सरकार ने वहां पर धारा 370 और 35A लगाई थी जिसके कारण  जम्मू कश्मीर आज भी पूरी तरह भारत के अन्य राज्यों की तरह नहीं है