होते रहना चाहिए महिलाओं का खतना : अभिषेक मनु सिंघवी, कांग्रेस



कांग्रेस ने फिर एक बार साबित कर दिया है की इस्लामिक चरमपंथियों को खुश करने के लिए वो किसी भी स्तर तक जा सकती है, पहले कांग्रेस ने ट्रिपल तलाक के समर्थन में भी अपने बड़े वकील कपिल सिब्बल को उतारा था 

उसके बाद राम मंदिर के विरोध में भी कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में केस लड़ा था, और अब कांग्रेस के एक और बड़े वकील अभिषेक मनु सिंघवी सुप्रीम कोर्ट में एक केस लड़ रहे है 

दरअसल सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गयी थी जिसमे मांग  करी गयी थी की मुस्लिम समाज में जो महिलाओं का खतना किया जाता है उसे बैन किया जाये 

इस याचिका के विरोध में कांग्रेस के वकील अभिषेक मनु सिंघवी केस लड़ रहे है, और उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में इस याचिका का विरोध करते हुए कहा है की महिलाओं का खतना मजहब और शरिया का हिस्सा है, और इसी कारण महिला खतना पर बैन नहीं लगाया जा सकता 

अभिषेक मनु सिंघवी ने अदालत में कहा की महिलाओं का खतना जारी रहना चाहिए, इसे रोका जाना मजहब में दखल होगा और मजहब का हनन होगा 


कांग्रेस के अध्यक्ष भले ही महिलाओं की बात करे, पर ट्रिपल तलाक हो या महिला खतना -  इनके बड़े बड़े नेता और वकील महिलाओं के खिलाफ हर मोर्चे पर खड़े होकर साबित कर देते है की राहुल गाँधी खुद कितने बड़े महिलावादी है, बता  दें की  सुकन्या देवी मामले में खुद राहुल गाँधी पर बलात्कार का केस चल चूका है 
loading...
Loading...



Loading...