मिशनरी में क्राइम हुआ तो क्या हुआ, नहीं उठाया जा सकता मदर टेरेसा पर सवाल : राजदीप सरदेसाई



मिशनरियों में अपराध आज से ही नहीं हो रहे है, मिशनरियों में अपराध तभी से हो रहे है जब से ये मिशनरियां भारत में आयी थी, ये मिशनरियां असल अपराध करने का ही काम दुनिया भर में करती है 

लोगों का धर्मांतरण, जमीनों पर कब्ज़ा, और अपराध से पैसा बनाना तमाम ईसाई मिशनरियों का मुख्य व्यापार है, झारखण्ड में टेरेसा द्वारा शुरू किये गए मिशनरी के काले कारनामे यूँ तो टेरेसा के ज़माने से ही चल रहे है, पर बीजेपी की झारखण्ड सरकार में ही मिशनरी के काले कारनामे सामने आये 

अब लोग इन मिशनरियों पर सवाल उठा रहे है, और टेरेसा जिसकी खूब मार्केटिंग की गयी है, उसपर भी लोग सवाल उठा रहे है, इस से राजदीप सरदेसाई बहुत भड़के हुए है, और उन्होंने भड़कते हुए ये कहा 



सरदेसाई का कहना है की मिशनरी में कोई अपराध होता है तो क्या हो गया. इस से आप मदर टेरेसा पर या ईसाइयत पर सवाल नहीं उठा सकते 

राजदीप सरदेसाई इस बात से भड़के हुए है की लोगों की हिम्मत कैसे हुई टेरेसा और ईसाइयत के खिलाफ आवाज उठाने की 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की ये वही राजदीप सरदेसाई  है, जो कठुवा के फर्जी रेप केस में, हिन्दुओ और मंदिर के खिलाफ लगभग 1 महीने तक जहर उगल रहे थे, ट्रैन में जिस जुनैद की हत्या सीट को लेकर हुई, उस मामले में भी राजदीप सरदेसाई हिन्दुओ के खिलाफ नॉन स्टॉप जहर उगल रहे थे 

और अब कह रहे है की मिशनरी में अपराध होने से आप टेरेसा और ईसाइयत पर सवाल नहीं उठा सकते 
loading...
Loading...



Loading...