भारत को जाहिल समाज न बनने दे सरकार, तुरंत मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को बैन करे : तस्लीमा नसरीन



भारत को 7वी सदी का जाहिल समाज बना देना चाहते है भारतीय कट्टरपंथी, ये लोग देश में हलाला चाहते है, ये बहु विवाह, मुताह करना चाहते है, ये शरिया अदालत चाहते है, इनको अब नया मुस्लिम देश भी चाहिए 

जैसे जैसे भारतीय कट्टरपंथियों की आबादी बढ़ रही है, इनकी मांगे भी बढ़ रही है, बढ़ती आबादी के साथ इनका असल रूप भी सामने आ रहा है, तस्लीमा नसरीन ने ऐसे कट्टरपंथियों पर सख्त कार्यवाही करने की मांग करी है, अगर  कार्यवाही नहीं की गयी तो ये कट्टरपंथी भारत के लिए बड़ी मुसीबत पैदा करेंगे 



तस्लीमा ने कहा की भारत जल्द  ही यूनिफार्म सिविल कोड लागू करे, ताकि कट्टरपंथियों की आबादी पर नियंत्रण किया जा सके, भारत के कट्टरपंथी भारत में शरिया कोर्ट चाहते है, ये लोग भारत को 7वी सदी का अरब बना देना चाहते है

तस्लीमा ने मांग करी की भारत  तुरंत मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को बैन कर दे,  बता दें की ये बोर्ड इंदिरा गाँधी ने भारत में स्थापित करवाया था, और  बोर्ड तीन तलाक का मामला हो, या अब शरिया अदालत और नए देश की मांग, ये बोर्ड देश में भय असुरक्षा और नफरत का माहौल बना रहा है, ये आतंकवादी संगठनो से भी बड़ा खतरा बन चूका है जिसे जल्द बैन करना देश की जरुरत बन चुकी है
loading...
Loading...



Loading...