हिन्दुओ और BJP/RSS के बीच दूरी बनाने के लिए कई करोड़ खा चुकी है वामपंथी और सेक्युलर मीडिया



आज हम आपको कुछ मीडिया की लिस्ट देंगे - पहले आपको बता दें की कांग्रेस से कई मीडिया हाउसेस ने करोडो रुपए खाये है, फेक न्यूज़ फैलाने के लिए 

 इनका मुख्य मिशन ये है की फेक न्यूज़ फैलाओ और किसी भी तरह हिन्दुओ के मन में बीजेपी और आरएसएस के लिए रोष भरो, और इसी के तहत मीडिया कई तरह की फेंक न्यूज़ फैलाये का काम कर रही है, सेक्युलर और वामपंथी मीडिया ने इस तरह ये फेक न्यूज़ फैलाई 

जनसत्ता नामक सेक्युलर मीडिया संसथान ने न्यूज़ फैलाई की - "अयोध्या में आरएसएस सरयू नदी के किनारे 5 लाख बार नमाज़ पढ़वायेगी"


ये खबर इसलिए फैलाई गयी ताकि हिन्दुओ के मन में आरएसएस के प्रति नफरत आये, मीडिया ये काम करने के लिए करोडो रुपए कांग्रेस से ले रही है, इस खबर को आग की तरह फैलाया गया, पर जल्द ही मीडिया का झूठ पकड़ा गया 



इस तरह की फेक न्यूज़ इसलिए फैलाई जा रही है की हिन्दू  समाज के लोगों के मन में आरएसएस और बीजेपी के लिए घृणा आ जाये, ऐसे लोग कांग्रेस को तो वोट नहीं देंगे, पर निष्क्रिय होकर बीजेपी को भी वोट नहीं देंगे, और फायदा कांग्रेस को होगा 

कांग्रेस ने इस गेम प्लान के लिए मीडिया हाउसेस को करोडो रुपए दिए है, हम आपको कुछ मीडिया हाउसेस के नाम बता रहे है, इनके टीवी चैनल, इनके अख़बार, और इनके न्यूज़ पोर्टल, सभी को ब्लॉक करें, और नहीं कर सकते तो इस्तेमाल जरूर करे पर न्यूज़ समझकर नहीं, टाइम पास समझकर 

जनसत्ता, हिंदुस्तान टाइम्स, टाइम्स ऑफ़ इंडिया, इंडियन एक्सप्रेस, द हिन्दू, NDTV, इंडिया टुडे, ABP ग्रुप, द वायर, स्क्रॉल, क्विंट, जनता का रिपोर्टर, इंडिया न्यूज़, इत्यादि 

ये हमने आपके सामने कुछ नाम रखे है, इनकी किसी भी खबर पर भरोसा न करें, सीधे ब्लॉक करें, इनके लिंक्स न खोले, और   अगर खोलें और पढ़े भी तो इनकी किसी भी खबर पर भरोसा न करें 

Loading...


Loading...