आधार कार्ड के जरिये 4 साल में मोदी ने देश के बचाये 90 हज़ार करोड़ रुपए, जिसे कांग्रेस के ज़माने में लूटा जाता था



देश में आज बहुत से ऐसे लोग जो दलाली का काम करते थे, वो मोदी से खुश नहीं है - बहुत से लुटेरे लोग जो मरे हुए लोगों का पेंशन प्राप्त कर रहे थे, स्कुल कॉलेज गाँव में फर्जी लोगों को जो सब्सिडी का पैसा दिया जा रहा था 

फर्जी के जो सैलरी बांटे जा रहे थे, वो सब मोदी सरकार में बड़े पैमाने पर रोका गया, और रोका कैसे गया ? 
वो रोका गया आधार कार्ड से लिंकिंग करने पर 

बड़े पैमाने पर सरकारी खजाने से सैलरी, सब्सिडी और सरकारी लाभ के तौर पर पैसा ऐसे लोगों के पास जाता था जो होते ही नहीं  थे, बहुत से सरकारी बाबू, दलाली करने वाले लोग, कई कई लोगों की सैलरी और सब्सिडी खुद प्राप्त करते  थे, बड़े पैमाने पर देश में ये भ्रष्टाचार था 

मोदी सरकार ने सख्ती से हर डिपार्टमेंट में आधार कार्ड लागू करना शुरू किया और बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़े को पकड़ा गया, बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार पर रोक लगी, पिछले 4 साल में मोदी सरकार ने आधार कार्ड के जरिये देश के 90 हज़ार करोड़ रुपए बचाये है 



ये पैसा कांग्रेस के ज़माने में भ्रष्टाचार की भेंट चाहता था, जो भ्रष्टाचारी कांग्रेस के ज़माने में ये पैसा खा रहे थे, उनको मोदी कहाँ से अच्छे लगने वाले है, दलाली से जुड़े तमाम लोग मोदी से नाराज है,  और ऐसे ही लोग कांग्रेस को दुबारा लाना चाहते है

आपकी जानकारी के लिए बता दें की कांग्रेस आधार कार्ड के विरोध में सुप्रीम कोर्ट भी गयी थी, इसलिए ताकि तमाम भ्रष्टाचारियों को सन्देश  दिया जाए की हमे वापस लाओ और फिर से सरकारी पैसा दीमक की तरह खाओ 

Loading...


Loading...