कांग्रेस राज में 2700 करोड़ लुटे, मोदी राज में CBI में हो गयी शिकायत, इसलिए मोदी लगते है ख़राब



आपने अमर्त्य सेन का नाम जरूर सुना होगा, और  साथ ही कांग्रेस राज के समय सुना होगा की बिहार की नालंदा यूनिवर्सिटी फिर से बनाई जा रही है 

कांग्रेस ने नालंदा यूनिवर्सिटी बनाने की जिम्मेदारी अमर्त्य सेन को ही दी थी, ऊपर जो आप बिल्डिंग की तस्वीर देख रहे है, ये है अमर्त्य सेन द्वारा बनाई गयी वर्ल्ड क्लास नालंदा यूनिवर्सिटी 

2700 करोड़ रुपए में ये बनाया है अमर्त्य सेन ने, कांग्रेस राज में अमर्त्य सेन को 2700 करोड़ और नालंदा यूनिवर्सिटी की जिम्मेदारी मिली थी 

आजकल ये अमर्त्य सेन मोदी सरकार के खिलाफ हर मामले पर बोलते है और ऐसा क्यों है ये हम  आज आपको बता रहे है, दरअसल  2014 तक जबतक कांग्रेस की सरकार थी तब तक अमर्त्य सेन को बढ़िया पैसा मिलता रहा 

नालंदा यूनिवर्सिटी का वो क्या कर रहे है उनसे नहीं पुछा गया, पर मोदी सरकार के आने के बाद हिसाब माँगा जाने लगा, और इसी कारण अमर्त्य सेन को मोदी सरकार ख़राब लगने लगी और अब हर मामले पर अमर्त्य सेन को मोदी बहुत ही ख़राब लगते है, अब कारण देखिये 



2700 करोड़ की जो लूट मचाई थी अमर्त्य सेन ने अब इस मामले की शिकायत सीबीआई में लंबित है, और इसी कारण अमर्त्य सेन को मोदी सरकार बहुत ही ज्यादा ख़राब लगती है, और ये चाहते है की फिर से कांग्रेस की सरकार आ जाये 

तो 2-4 ठेके इनको और मिल जाये, आपकी जानकारी के लिए बता दें की 2700 करोड़ कोई इन्होने अकेले ने नहीं लूटे है, 2700 करोड़ तो सरकारी खजाने से निकालकर कांग्रेस ने इनको दे दिया, उसके बाद कांग्रेस के साथ 2700 करोड़ को इन्होने बाँट लिया, ये ही खाओ और खिलाओ का खेल कांग्रेस सरकार में चलता था 

मोदी आये तो हिसाब माँगा जाने लगा और हिसाब देंगे कहाँ से 2700 करोड़ में उन्होंने क्या बनाया है ये भी आप ऊपर देख ही रहे है, और एक बड़ी जानकारी हम आपको और दे देते है 

ये जो ऊपर तस्वीर में आप बिल्डिंग देख रहे है, ये बिल्डिंग भी अमर्त्य सेन ने नहीं बनाई है, ये बिहार सरकार का पुराना गेस्ट हाउस था, इसपर अमर्त्य सेन ने 2700 करोड़ रुपए में सिर्फ "नालंदा यूनिवर्सिटी" का बोर्ड लगाया है 

Loading...


Loading...