शरिया अदालत और अलग देश की मांग राहुल गाँधी ने मुस्लिमो से करवाई, 2019 से पहले देश को आग लगा देने की तैयारी



बहुत से लोग राहुल गाँधी को जोक और नादान शख्स समझकर टाल देते है, पर ये शख्स असल में कितना खतरनाक है इसका अंदाजा कम ही लोगो को है, आधा इटालियन राहुल गाँधी बेहद ही खतरनाक शख्स है 

ये जो मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड है, इसकी स्थापना मुस्लिमो ने नहीं कांग्रेस ने ही करवाई थी, इंदिरा गाँधी ने इस NGO की स्थापना की थी, इसने पिछले दिनों जो शरिया अदालत की मांग करी और उसके बाद अलग मुस्लिम देश की भी मांग कर दी 

ये मांग दरअसल राहुल गाँधी ने मुस्लिमो से कराइ है, आपको एक और बात बता दें की  कर्णाटक में कोंग्रेसी नेता और मंत्री ज़मीर अहमद खान ने शरिया अदालत का समर्थन भी किया है 

राहुल गाँधी ने मुस्लिम नेताओं से मीटिंग करी और उसके बाद शरिया अदालत और मुस्लिमो के लिए अलग देश की मांग कर दी गई, सिर्फ राष्ट्रवादियों ने शरिया अदालत और मुस्लिमो के लिए अलग देश की  मांग का विरोध  किया,बाकि सभी सेक्युलर दल चुप है 

और कांग्रेस के नेताओं ने तो इसका समर्थन भी कर दिया, दरअसल राहुल गाँधी मुस्लिम वोट जो की 20% है इस देश में उसे पूरा बंटोरने में लगे है, और इसके लिए कोंग्रेस शरिया अदालत का समर्थन कर रही है 

इसके अलावा कांग्रेस के नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट में महिला खतना का भी समर्थन किया है, और उस से पहले कपिल सिब्बल ट्रिपल तलाक का समर्थन कर रहे थे 

राहुल गाँधी इस देश को 2019 के चुनाव से पहले आग लगा देने पर आमादा है, और आने वाले समय में बड़े पैमाने पर दंगे भी करवाए जा सकते है, सत्ता के लिए देश के टुकड़े करने वाली मांग को बढ़ावा दे रहे है राहुल गाँधी, हर कीमत पर सत्ता पाना मकसद है, ये शख्स अगर प्रधानमंत्री बन गया तो इस देश का ईश्वर ही मालिक है 

Loading...


Loading...