जय श्री राम का नारा भय, आतंक और नफ़रत फ़ैलाने वाला, ये नारा बंद होना चाहिए : RJD



सेकुलरिज्म तथा वोटबैंक के लिए लोग कितने नीचे गिर जाते है 
उसका उदाहरण आप अभी देखेंगे, वोट और सत्ता के लिए लोग अपनी माँ को भी बेच दें तो कोई बड़ी बात नहीं है, इन लोगों की मानसिकता इतनी नीच और छोटी होती है की ये किसी भी स्तर तक जा सकते है 

अभी हाल में ही नितीश कुमार की पार्टी के नेता खुर्शीद अहमद ने जय श्री राम का जयकारा लगा दिया 
मुस्लिम तत्व तो भड़क ही गए, सेक्युलर और वामपंथियों को भी बड़े पैमाने  हुई 
भगवन राम से इनकी नफरत सामने आने लगी 

बिहार की सत्ता से बाहर हुई लालू की पार्टी ने तो जय श्री राम के नारे को ही गलत  बता दिया 
कहा की ये तो नारा ही गलत है और लोगों को डराने के लिए इस्तेमाल किया जाता है 

RJD के आधिकारिक प्रवक्ता ने जय श्री राम के नारे पर ही आपत्ति दर्ज करा दी और कहा की जय श्री राम तो कहा ही नहीं जाना चाहिए 

RJD ने जय श्री राम के नारे को आतंक भय और नफरत फैलाने वाला घोषित कर दिया 
RJD के इस प्रवक्ता का वीडियो आप देख सकते है 



बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा वहीँ बैठे थे, उन्होंने RJD प्रवक्ता की शर्मनाक बात का विरोध किया 
वहीँ कांग्रेस के भी प्रवक्ता वहां बैठे थे उन्होंने RJD के विरोध की कोशिश तक नहीं की 
जाहिर है की कांग्रेस का भी इस बयान में समर्थन है 

ये वही कांग्रेस है जिसने 2004 में भगवान् श्री राम को ही मानने से इंकार कर दिया था, और राहुल गाँधी ने तो 2015 में भी कहा था की वो भगवान् राम को मानते ही नहीं 

राम को मानने वाले लोगों को भी देखना चाहिए की वो जातियों के नाम पर कैसे लोगों को सत्ता देते है