CM का पुलिस को सख्त आदेश : एक भी बांग्लादेशी न बचे, खोज खोज कर निकालो बाहर !


रांची के JAP – 1 मैदान में आयोजित झारखण्ड पुलिस अलंकरण परेड समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए सीएम रघुवर दास ने बांग्लादेशी घुसपैठ पर तेवर कड़े करते हुए झारखण्ड पुलिस को कहा कि जल्द बांग्लादेशी घुसपैठियों को चिन्हित कर वापस बांग्लादेश भेजे झारखण्ड पुलिस.

 इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल वोट के लिए बांग्लादेशी घुसपैठियों को बढ़ावा दे रहे हैं. भ्रष्ट अधिकारियों की एक सिंडीकेट इन घुसपैठियों के राशन कार्ड और वोटर बना रही है. लेकिन उनकी सरकार घुसपैठियों के खिलाफ कारगर कार्रवाई के लिए प्रतिबद्ध है और सभी बांग्लादेशी घुसपैठियों को चिन्हित कर वापस बांग्लादेश भेजेगी.

इस मौके पर उन्होंने राज्य के सुरक्षा बालों को उग्रवाद पर कारगर लगाम लगाने और उग्रवादी घटनाओं में 50 प्रतिशत की कमी लाने पर बधाई भी दी. सीएम ने कहा कि अब राज्य में संगठित अपराध और कोयले के अवैध कारोबार पर भी लगाम लगेगी. 

उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि झारखण्ड की पुलिस दुनिया का सबसे संसाधन संपन्न, विश्वसनीय और प्रोफेशनल पुलिस बल बने. सीएम ने पुलिस को नसीहत देते हुए कहा कि आम लोगों के साथ सम्मानजनक व्यवहार करें ना कि पुलिस लोगों के कपड़े देखकर व्यवहार बदले.

एक आम आदमी को भी पुलिस थाने में उतना ही सम्मान मिलना चाहिए जितना कि एक संपन्न व्यक्ति या बुद्धिजीवी को दिया जाता है. इस मौके पर सीएम ने डायल 100 सेवा और नागरिक समाधान सेवा तथा इनके मोबाइल एप्प का ऑनलाइन उदघाटन किया. सीएम ने कहा कि 100 नंबर डायल करनेवालों को तत्काल सुरक्षा और सेवा मिले इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए. 

इस समारोह में राष्ट्रपति पुलिस पदक, वीरता एवं सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक प्राप्त पुलिस कर्मियों तथा मरणोपरांत पुलिस पदक प्राप्त करनेवाले पुलिस कर्मियों के परिजनों को सम्मानित किया गया. झारखण्ड के पुलिस महानिदेशक डी. के. पाण्डेय ने इस मौके पर कहा कि पहली बार नक्सल प्रभावित 13 फोकस क्षेत्र के युवाओं को पुलिस सेवा से जोड़कर सरकार ने सकारात्मक पहल की है.