CIA की एक ख़ुफ़िया रिपोर्ट ने मचा दी सनसनी मोदी को बताया दुनिया का सबसे ख़तरनाक PM



दुनियाभर पर नजर रखकर सारी गुप्त सूचनाएं पेंटागन को देने वाली अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी  सीआईए ने इस बार जो रिपोर्ट पेंटागन को भारत के बारे में दी है उन सूचनाओं से पुरी दुनिया सकते में है।

आपको बता दें कि पेंटागन को सौंपी गयी इस ख़ुफ़िया सुचना का टाइटल ही है की, “अमरीका के बाद भारत दूसरा देश हो सकता है जिसने किसी पर परमाणु बम का उपयोग किया” । आपको तप पता ही है कि आजकल भारत और पाकिस्तान के बीच उरी अटैक के बाद तनाव है । सीआईए ने अपनी रिपोर्ट में इन सभी पहलुओं पर ग़ौर करके अपनी रिपोर्ट दी है। इस रिपोर्ट में सीआईए ने भारत के PM मोदी जी  की आक्रमकता और तुरंत निर्णय लेने की क्षमता के बारे में पेंटागन को सचेत किया है।

सबसे पहली बात जो कही गयी है उसके अनुसार मोदी की पहली पसंद बम है गोली नहीं  है । सीआईए ने साफ़ साफ़ कहा है की, मोदी एक बेहद आक्रमक नेता के रूप में उभरे है ऐसी आक्रमकता आज से पहले भारत के किसी PM ने नहीं दिखाई है। सीआईए ने अपनी रिपोर्ट में पेंटागन को ये बताया है की मोदी की पसंद बम है गोली नहीं वो जब भी युद्ध करेंगे तो भीषण करेंगे, और बड़ा फैसला करने वाला युद्ध करेंगे छोटा मोटा युद्ध नहीं करेंगे ।

सीआईए ने ये भी बताया  है  कि मोदी ने भारत की वायु सेना को ATTACK  मोड पर किया हुआ है और भारत की वायु सेना के 18 एयरबेस एकदम हाई अलर्ट पर है और दिल्ली से बस एक इशारा मिलते ही वे किसी भी देश पर हमला कर देने के लिए एकदम तैयार है।

केवल यही नहीं CIA ने अपनी रिपोर्ट में पेंटागन को ये भी बताया की भारत ने अपने सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों (सुखोई) पर परमाणु युक्त ब्रह्मोस भी load करके  अटैक की पोजीशन में तैनात किये हुए है।

इस रिपोर्ट में पाकिस्तान के अस्तित्व के ख़त्म होने के ख़तरे को चेताते हुए सीआईए ने कहा है की, पाकिस्तान की केवल एक और ग़लत हरकत दुनिया के इतिहास में बड़ा बदलाव ला सकती है क्योंकि ऐसा बिलकुल संभव है की भारत पाकिस्तान के परमाणु हमले का इंतज़ार ना करे बल्कि ख़ुद हाई पहले हमला कर दे  ऐसी सूरत में पाकिस्तान का अस्तिव भयंकर ख़तरे में पड़ जाएगा ।

CIA द्वारा  पेंटागन को दी गयी इस  रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि, भारत की मौजूदा सरकार ज़बरदस्त, तुरंत और एतिहासिक फैसला ले सकती है, सम्भावना ये है की इस बार युद्ध भारत की तरफ से ही शुरू हो जाए और ऐसे हालात है की युद्ध छोटा मोटा और केवल गोली-बारी  से नहीं बल्कि बम से हो सकता है  और इससे पाकिस्तान का नामोनिशान दुनिया से मिट जाने की पूरी सम्भावना है ।

आंकलन – इस रिपोर्ट पर हमारा आंकलन ये कहता है कि ये रिपोर्ट अतिशयुक्तिपूर्ण है और अति उन्माद में बनायी गयी है , हो सकता है इस रिपोर्ट के आधार पर भारत सरकार पर पाकिस्तान के साथ नरमी बरतने का दवाब बनाने की कोशिस की जाए जैसा अमेरिका पहले भी दूसरे देशों के साथ करता रहा है लेकिन हम ये कहना चाहते हैं कि इस बार अमेरिका का पाला मोदी जी से पड़ा है तो उसको अपनी किसी भी प्रकार की चालबाज़ियों से पहले मोदी जी के काम करने और जवाब देने के तरीक़ों को समझना चाहिए ।