वामपंथियों, कांग्रेस, सेकुलरों और जिहादियों ने मिलकर ये तमाम झूठ फैलाएं, इनसे सावधान रहे


"इतिहास के 10 सबसे बड़े जूठ"

1. दो गोली लगने के बाद गांधी ने 'हे राम' कहा था ।
* गोली लगने के बाद गाँधी के मुँह से कुछ नहीं निकला था

2. नेहरू बच्चों से बहुत प्यार करते थे ।
* नेहरू बच्चों से नहीं बल्कि महिलाओं से बहुत प्यार करते थे, खासकर विदेशी महिलाओं से 

3. दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल ।
* 1857 में भारतीयों ने आज़ादी की लड़ाई की शुरुवात की थी, 1947 तक 7 लाख 32 हज़ार भारतीयों ने बलिदान दिया तब आज़ादी आयी 

4. ए मेरे वतन के लोगो सुनकर नेहरू रो दिए थे। 
* नेहरू ने भारत के हथियारों के कल कारखाने बंद करवाए, चीन को ताकतवर बनवाया, परमाणु शक्ति बनवाया, और संसद में भी 1962 के बाद नेहरू ने बयान दिया की, क्या हो गया मानसरोवर गया तो, वो तो बंजर भूमि थी, घांस का एक तिनका भी नहीं उगता था 

5. अकबर महान था ।
* अकबर एक विदेशी आतंकवादी था, एक पूर्ण हवसी था, और महाराणा प्रताप से डरता था, इसलिए हल्दीघाटी के युद्ध में नहीं आया 

6. मजहब नही सिखाता आपस मे बैर करना ।
* मजहब के नाम पर ही इस्लामिक चरमपंथियों ने कश्मीर से हिन्दुओ को भगाया, मजहब के नाम पर ही देश का बंटवारा करवाया, 30 लाख का कत्लेआम किया 

7. हिन्दू मुस्लिम इसाई आपस मे है भाई भाई ।
* भाई भाई है, तो एक भाई दूसरे की माता तुल्य गाय को काटकर खाने के पीछे क्यों पड़ा हुआ है, कश्मीर से हिन्दुओ को क्यों भगाया ! 

8. गंगा- जमना तहजीब ।
* सच ये है की गंगा भी हिन्दू है और यमुना भी हिन्दू है, यमुना कब से इस्लामिक नदी हो गयी 

9. गांधी अहिंसा के पुजारी थे ।
* गाँधी ने हिन्दू महिलाओं को बलात्कार को सहन करने के लिए कहा, हिन्दुओ को कहा मुस्लिम क़त्ल करते है तो क़त्ल हो जाओ 
पर कभी मुस्लिमो को नहीं कहा की हिन्दुओ को मत मारो

10. नेहरू पंडित था ।
* नेहरू गयासुद्दीन ग़ाज़ी जो की अफगानिस्तान का था, उसका वंशज था, नेहरू का मुबारिक अली से भी सम्बन्ध है, "नेहरू" तो सरनेम भी फर्जी है 
नेहरू ब्रह्माण्ड में किसी भी ब्राह्मण का सरनेम नहीं है 

वामपंथियों, कांग्रेस, सेकुलरों और जिहादियों ने ये झूठ आजतक हमे परोसा है, हम तो इस झूठ के शिकार हुए 
पर आने वाली पीढ़ी को इन तमाम झूठों से सावधान रहना है 

Loading...


Loading...