कविता कृष्णन ने किया मुग़लसराय का समर्थन, बताया "अमिट प्रेम के इतिहास का प्रतिक"



वामपंथियों के मन और ह्रदय में आक्रमणकारी, हत्यारे और लुटेरे मुस्लिम हमलावरों के लिए कितना प्रेम है ये आज फिर देखने को मिला 
कुख्यात वामपंथी कविता कविता कृष्णन ने मुग़लसराय नाम का पुरजोर समर्थन किया और 

मुगलसराय को अमिट प्रेम के इतिहास का प्रतिक बता दिया 
कविता कृष्णन ने कहा की, उसे मुग़लसराय से बहुत प्रेम है, और इसका नाम बदलने से इतिहास बदल नहीं जाएगा 

कविता कृष्णन ने कहा की मुगलसराय नाम 
अमिट प्रेम के इतिहास को दिखाता है, इस नाम से प्रेम और अमिट इतिहास जुड़ा हुआ है 
देखें कविता कृष्णन का ट्वीट 


वामपंथियों को मुगलो के नाम से प्रेम की याद आती है, मुगलों से ये वामपंथी प्रेम की प्रेरणा लेते है 
हमे तो ये सोच के आश्चर्य हो रहा है की इन वामपंथियों की लिखी गयी किताबें देश में पढाई जाती है, मोदी सरकार के आने के बाबजूद भी अभी तक 
वामपंथियों द्वारा लिखी गयी किताबें ही स्कूलों में चल रही है 

ये वामपंथी तो हत्यारे, बलात्कारी मुगलों से प्रेम की प्रेरणा ले रहे है