संगीत सुनने से आपके गुप्तांग हिलने लगते है इसलिए संगीत इस्लाम में हराम है : मुस्लिम धर्मगुरु



एक मुस्लिम धर्मगुरु का जो की असल में सऊदी अरब के मुस्लिम धर्मगुरु है 
उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है 

एक छोटे मुस्लिम बच्चे ने उनसे सवाल किया, की इस्लाम में म्यूजिक यानि संगीत हराम क्यों है 
इसके जवाब में सबसे पहले तो आप देखिये की इस मुस्लिम धर्मगुरु ने क्या जवाब दिया 

धर्मगुरु ने अंग्रेजी ने जवाब दिया, और सवाल भी अंग्रेजी में, जिसका हिंदी अनुवाद हम आपको नीचे देंगे 

धर्मगुरु ने कहा की, आज से ही नहीं हमेशा से इस्लाम में संगीत हराम रहा है 
क्यूंकि संगीत गन्दा है, बदबूदार है और संगीत सुनने से आपके मन में सेक्स की भावना जागती है, आपके शरीर के गुप्तांग हिलने लगते है 
और इसी कारण इस्लाम में संगीत हराम है, और संगीत नहीं सुना जाना चाहिए 

अब मोटा मोटा हमारी समझ में ये आया की संगीत इसलिए हराम है क्यूंकि धर्मगुरु के अनुसार संगीत सुनने से सेक्स की भावना जागती है 
अगर यही लॉजिक लगाया जाये तो पॉर्न देखना तो और अधिक हराम हुआ, पर असल में सच तो यही है की मुस्लिम देश पोर्न देखने के मामले में दुनिया में नंबर 1 है 

साथ ही साथ हूरों की बात सोचना तो और अधिक हराम हुआ 
क्यूंकि हूरों का दिमाग में ख्याल लाना मतलब सेक्स की भावना रखना, और ऐसे में मुस्लिम धर्मगुरु को बताना चाहिए की संगीत हराम है तो हूरों की बात करना, उनके बारे में सोचना कैसे हलाल हुआ