सोशल मीडिया आ गया वरना आज भी अकबर महान होता और औरंगजेब सूफी संत कहलाने लगता



अगर #सोशल_मीडिया ना होता तो,,,

गांधी आज भी बापू होता
नेहरू चाचा होता

अकबर महान होता
औरंगज़ेब सूफी संत होता

कांग्रेस ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी होती
इस्लाम अमन पसन्द मज़हब होता

जिहादी कट्टरपंथी शांतिप्रिय होते
RSS के स्वयंसेवक आतंकी होते

सिमी संगठन देश भक्त होता
मुगल हमारे आदर्श होते

महाराणा प्रताप आक्रमणकारी होते
सेक्युलरिज़्म हमारी खोपड़ी पर होता

हिन्दू धर्म घुटनो पर होता
वामपंथी प्रगतिशील होते

हिन्दू आज भी पिछड़े होते
कॉपी पेस्ट करने वाला आंबेडकर संविधान निर्माता होता 

रवीश बरखा जैसे जागरूक पत्रकार होते
सुधीर रोहित जेल में होते,,,

(सोशल मीडिया वाकई एक निष्पक्ष विपक्ष की भूमिका में दिखाई दे रहा है।

इसको न् पद का लालच,न् मेनस्ट्रीम मीडिया की तरह धन रूपी हड्डी,और शराब व शबाब का।

इस सोशल मीडिया ने सरकारों के गलत फैसले को दुत्कारने व अच्छे कार्य को सराहने में कोई कसर न् छोड़ी है।
न् ही किसी राजनैतिक पार्टियों के दबाब या अन्य लालच में किसी अपराध या राष्ट्र विरोध के कार्य को सराहा है।

आज आजादी के इस 70 सालों वाली वर्षगांठ में हम गर्व से कह सकते हैं,हमें सरकारें व विपक्ष और मेनस्ट्रीम मीडिया निष्पक्ष भले न् मिला हो।
पर सोशल मीडिया पूर्णतया राष्ट्रहित का अनुयायी व निष्पक्ष मिला है।

हे राजनीति के जन्मदाता प्रभु श्री कृष्ण आपकी कृपा इस सोशल मीडिया पर बनी रहे ताकि ये भी दिग्भ्रमित न् हो।
जय हिं 

Thanks to सोशल मीडिया..👍👍