भारत को नेहरू से भी कहीं अधिक बीमारियां दी इंदिरा गाँधी ने, आज उनकी सजा भुगत रहा देश !


भारत को नेहरू से भी कहीं अधिक बीमारियां दी इंदिरा गाँधी ने, आज उनकी सजा भुगत रहा देश ! 

1- पाकिस्तान की सेना से आत्मसमर्पण करवा गई 

ये इंदिरा ही थी जिसके पिता नेहरू ने 1948 अक्टूबर में वीर विजयी भारतीय सेना को रोक कर कश्मीर का हजारो किलोमीटर पाकिस्तानको दान दे दिया और इसी रास्ते पर चलते हुए इंदिरा गाँधी ने 1971 में हजारो सैनिको के बलिदान को नकार कर, लाहौर में तिंरंगा फहराने वाली भारतीय सेना को पिच्छे हटने कह दिया था, 1971 में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कई बड़े इलाकों पर कब्ज़ा किया था, सब वापस दे दिया 

2- बंगलादेश अलग देश बन गया 
वो इंदिरा ही थी जिसने हजारो शहीदों के बलिदान को भूल कर बांलादेश् को स्वतंत्र राष्ट्र घोषित कर दिया जबकि
इसको फिर से भारत्त में मिलाया जा सकता था, भारतीय सेना चाहती थी की पूर्वी पाकिस्तान को भारत में मिलाया जाये, पर इंदिरा ने इस प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया, और एक नया इस्लामिक देश बना बांग्लादेश 

*वो भी इंदिरा ही थी जिसने 90000 पाकी सैनिको को छोड़ दिया* और उनके बदले कश्मीर मांगने की बात तो दूर पाकिस्तान में कैद 55 भारतीय सैनिकों की कोई परवाह नही की।

3- 1942 से ही विक्रम साराभाई, डा होमी जहांगीर भाभा पूर्ण सक्षम थे परमाणु अनुसन्धान और परमाणु विस्फोटक निर्माण में।
तो नेहरू इंदिरा की मूर्खता के कारण ये कार्य 1983 में सम्भव हो पाया , इसका मुख्य श्रेय डा कलाम सर , और उनकी टीम को को जाता है।

4 - खालिस्तान, आतंकवाद, नक्सलवाद, समस्या नाम को कोई चीज नही थी अंग्रेजो के जमाने में।
1980 के बाद खालिस्तान आतंकवादी और भिंडरावाले कैसे पैदा हो गए, किसकी सरकार थी उस समय पंजाब, दिल्ली में ?

इंदिरा ने ही भूत खड़े किये, और फिर भूतों के हाथों सैकड़ो सैनिको , भारट्रियो, पुलिस को मरवाया और फिर भिंडरावाले को मार दिया।
आज भी भारत में खालिस्तानी समस्या है, नक्सलवाद है, ये इंदिरा की ही देन है 

कांग्रेज़ शाशनकाल में ही नक्सली,खालिस्तानी क्यों पैदा होते रहे है।
और जब पुलिस, अन्य सुरक्षाबल नक्सलियों, आतंकवादियो को मारती है तो
कांग्रेस क्यों मासूमो की हत्या कहकर रोने लगे जाती है।

5- भारत में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड नाम की जो चीज है, जिसमे एक से बड़े एक कट्टरपंथी भरे हुए है जो अक्सर भारत को धमकियाँ देते है, ये संस्था क्या किसी मुस्लिम ने बनवाई थी ? 
नहीं इसका रजिस्ट्रेशन खुद इंदिरा गाँधी ने करवाया था, और आज ये देश के लिए नासूर बन चूका है 

इतने ब्लंडर किये पहले बाप ने फिर बेटी ने 
की आज भी उसकी सजा भुगत रहा है देश, और सबसे बड़ी चीज तो ये है की देश को इतने जख्म देने वाले इस बाप बेटी ने खुद ही को भारत रत्न का अवार्ड भी दे दिया था